हरियाणा के गुड़गांव में सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ रहे लोगों के साथ अभद्रता की घटनाओं पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. खट्टर ने कहा है कि नमाज सार्वजनिक जगहों पर नहीं बल्कि मस्जिद या ईदगाह में पढ़ी जानी चाहिए.

सोमवार से इजरायल और ब्रिटेन के दौरे पर जा रहे मनोहर लाल खट्टर ने अपने इस दौरे की जानकारी देने के लिए रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस दौरान जब पत्रकारों ने उनसे नमाज के दौरान हुई कुछ घटनाओं पर सवाल पूछा तो मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कानून व्यवस्था को बनाए रखना सरकार का काम है. इस समय खुले में नमाज पढ़ने का चलन बढ़ रहा है. नमाज मस्जिद या ईदगाह में पढ़ी जानी चाहिए, न कि सार्वजनिक स्थलों पर.’

पिछले दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें कथित रूप से गुड़गांव में सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ रहे लोगों को कुछ लोग भगाते नजर आए थे. इसके बाद कई अन्य जगहों पर भी ऐसी घटनाएं सामने आयी थीं. इस मामले में पुलिस ने एक हिंदू संगठन के कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था. तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए प्रशासन को कई सार्वजनिक स्थलों पर पुलिस की तैनाती भी करनी पड़ी थी.