उत्तराखंड के ऊंचाई वाले कई क्षेत्रों में मंगलवार को भारी हिमपात हुआ. बताया जाता है कि इस वज़ह से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित कई अन्य कांग्रेस नेता केदारनाथ में फंस गए है.

डीएनए की ख़बर के मुताबिक रावत के साथ कांग्रेस सांसद प्रदीप टमटा, स्थानीय विधायक मनोज रावत भी हैं. ये सभी केदारनाथ दर्शन के लिए गए थे. इन्होंने रुद्रप्रयाग जिले के गौरीकुंड से पैदल ही केदारनाथ की चढ़ाई शुरू की थी. यहां बताते चलें कि केदारनाथ के पट अभी 29 अप्रैल को ही आम जनता के लिए खोले गए हैं. बताया जाता है कि भारी हिमपात की वज़ह से केदारनाथ यात्रा कुछ समय के लिए रोक दी गई है. हालांकि बद्रीनाथ की यात्रा अभी जारी है.

वैसे बद्रीनाथ में भी लगभग दो इंच बर्फ गिरी है. इसके अलावा हेमकुंड में भी बर्फ़बारी हुई है. कई स्थानों पर भारी वर्षा और तेज आंधी भी चली. इससे जगह-जगह पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए. राजधानी देहरादून में भी ऐसी स्थिति बनी जिससे निपटने के लिए राज्य स्तरीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ़) की टीमों ने जगह-जगह मोर्चा संभाल लिया है. हालांकि मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में कई इलाकों में फिर बारिश और हिमपात की संभावना जताई है.