प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि उनकी सरकार बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के सपने को साकार करने की कोशिश कर रही है. देश को शक्तिशाली और समृद्ध राष्ट्र के तौर पर स्थापित करने की कोशिश कर रही है.

कर्नाटक विधानसभा के चुनाव प्रचार के दौरान ‘नमो (नरेंद मोदी) एप’ के जरिए राज्य भाजपा इकाई के अनुसूचित जाति-जनजाति (एससी-एसटी) और पिछड़े वर्गों के कार्यकर्ताओं से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमने एससी-एसटी अत्याचार निरोधक कानून को सख़्त बनाया. हम ओबासी आयोग को भी संवैधानिक दर्ज़ा देने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन हमारी कोशिशों को पूरी तरह सफल नहीं होने दिया जा रहा है. संसद के कामकाज में लगातार बाधा डाली जा रही है.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘संसद में एससी-एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यक वर्गों से आने वाले सबसे ज़्यादा सांसद भाजपा के हैं. उन्हें भाजपा ने सबसे ज़्यादा प्रतिनिधित्व दिया है. लेकिन कांग्रेस ने हमेशा इन वर्गों को वोट बैंक की तरह ही इस्तेमाल किया. यहां तक कि जब तक कांग्रेस सत्ता में रही उसने बाबा साहेब को भारत रत्न तक नहीं दिया.’ ग़ौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा 12 मई को मतदान है. इससे पहले सभी पार्टियां आख़िरी चरण के प्रचार में पूरी ताक़त लगा रही हैं.