प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को दो दिन की यात्रा पर नेपाल पहुंचे. वहां वे हवाई अड्‌डे से सीधे जनकपुर के लिए रवाना हुए जहां से उन्होंने हरी झंडी दिखाकर उत्तर प्रदेश के अयोध्या के लिए नियमित बस सेवा का शुभारंभ किया.

ख़बरों के मुताबिक इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने जनकपुर के माता जानकी मंदिर में क़रीब 10 मिनट तक पूजा-अर्चना की. इस दौरान नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ‘ओली’ भी उनके साथ रहे जिन्होंने मंदिर परिसर में ही मोदी की अगवानी की थी. दोनों नेता यहां लगभग 45 मिनट तक रहे. इस दौरान मोदी ने कहा, ‘नेपाल में आज जो स्वागत-सत्कार हुआ है वह इस बात का प्रमाण है कि यहां के लोग भारत और भारतीयों से कितना स्नेह करते हैं. यह एक ऐतिहासिक पल है.’

मोदी ने कहा, ‘मैं यहां राजा जनक और माता जानकी को श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए आया हूं. मैं नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का ख़ास तौर पर धन्यवाद करता हूं कि वे इस यात्रा के दौरान मेरे साथ हैं.’ ग़ौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह तीसरी नेपाल यात्रा है. लेकिन इस बार की यात्रा ख़ास है क्योंकि बीते कुछ समय से चीन की दख़लंदाज़ी के कारण भारत-नेपाल के संबंध थोड़े असहज हो गए थे. इन्हें सामान्य करने के लिए ओली बीते महीने ही भारत आए थे.

बहरहाल मोदी की इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के संबंधों में न सिर्फ़ नया आयाम जुड़ने की संभावना है बल्कि कुछ अहम समझौते होने की भी उम्मीद की जा रही है.