मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर उठे विवाद पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक और नेता का बयान आया है. अब बहराइच की सांसद सावित्री बाई फुले ने जिन्ना को ‘महापुरुष’ बताया है. डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘जिस किसी ने भी देश की आजादी की लड़ाई में योगदान दिया है उसका नाम सम्मान के साथ लिया जाना चाहिए. फिर चाहे वह किसी भी ​जाति या धर्म का क्यों न हो.’ सावित्री बाई फुले ने आगे कहा, ‘जिन्ना की तस्वीर हर उस जगह लगाई जानी चाहिए जहां इसकी जरूरत है. तस्वीर के विवाद को बेवजह तूल दिया जा रहा है. इसके जरिये दलितों के मुद्दों को भटकाने की कोशिश की जा रही है.’

इससे पहले उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी जिन्ना की तारीफ की थी. और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में जिन्ना की तस्वीर लगाने को सही ठहराया था. हालांकि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि भारत में जिन्ना के महिमामंडन की कोई जगह नहीं है.

जिन्ना की तस्वीर का यह विवाद अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम द्वारा एएमयू कुलपति को लिखे एक पत्र से शुरू हुआ था. एएमयू में जिन्ना की तस्वीर लगाए जाने को लेकर गौतम ने कुलपति से स्पष्टीकरण मांगा गया था. इसके बाद तस्वीर हटाने को लेकर कुछ संगठनों ने विश्वविद्यालय में प्रदर्शन किया था. इस दौरान एएमयू में हिंसक घटनाएं भी देखने को मिली थीं.