राज्य की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है. द टाइम्स आॅफ इंडिया की खबर के मुताबिक अब इस राज्य में महिलाओं के नाम पर अगर कोई संपत्ति ट्रांसफर कराई जाती है तो उन्हें किसी तरह का कोई स्टाप शुल्क नहीं देना होगा. इस तरह का अहम फैसला करने वाला जम्मू-कश्मीर देश का पहला राज्य भी है.

इस संबंध में शुक्रवार को राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा, ‘यह घोषणा करते हुए मुझे बेहद खुशी हो रही है कि राज्य में महिलाओं के नाम ली जाने वाली संपत्तियों पर स्टांप शुल्क को अब पूरी तरह खत्म कर दिया गया है. इस फैसले से राज्य के परिवारों में बहन, बेटी, पत्नी या फिर माता के नाम संपत्ति खरीदने को बढ़ावा मिलेगा.’

उधर, राज्य सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक यह शुल्क सिर्फ महिलाओं के लिए खत्म किया गया है. राज्य में कोई पुरुष अगर शहरी इलाके में संपत्ति खरीदता है तो उसकी कुल कीमत का पांच प्रतिशत जबकि ग्रामीण इलाकों में संपत्ति की कुल कीमत का तीन प्रतिशत उसे स्टांप शुल्क के रूप में चुकाना होगा.