नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली ने एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ शनिवार को काठमाण्डु में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस दौरान केपी ओली ने नरेंद्र मोदी को विश्वास दिलाया कि वे किसी भी सूरत में नेपाल की जमीन का इस्तेमाल भारत विरोधी गतिविधियों के लिए नहीं होने देंगे.

केपी ओली ने यह भी कहा है कि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच बीते दो महीनों में दूसरी बार मुलाकात हुई है और ये मुलाकातें भारत-नेपाल के बीच बढ़ता आपसी विश्वास दिखाती हैं. इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने की दिशा में बढ़ेंगे और अपने दोस्ताना संबंधों को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे.

इस बीच नरेंद्र मोदी ने नेपाल के दो पूर्व प्रधान​मंत्रियों पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ और शेर बहादुर देउबा के अलावा कई अन्य नेताओं से भी मुलाकात की. साथ ही दो दिन की इस यात्रा के दौरान मिले सम्मान के लिए भारतीय प्रधानमंत्री ने नेपाल सरकार के प्रति आभार जताया. नरेंद्र मोदी शुक्रवार को हेलीकॉप्टर से नेपाल के जनकपुर पहुंचे थे. शनिवार को नेपाल में भारत के राजदूत की तरफ से आयोजित एक समारोह में शामिल होने के बाद प्रधानमंत्री आज स्वदेश लौट रहे हैं.