उत्तर प्रदेश सहित देश के कई राज्यों में रविवार को आए तूफान ने बड़ी तबाही मचाई. इससे 80 से ज्यादा मौतों की खबर आई है. बारिश के साथ आई तेज हवाओं ने जगह-जगह पेड़ और बिजली के खंभे उखाड़ दिए. सबसे ज्यादा नुकसान उत्तर प्रदेश में हुआ है जहां 51 लोगों की मौत हो गई. उधर, पश्चिम बंगाल में 14 लोगों की मौत हुई है तो आंध्र प्रदेश में 12 लोगों की मौत की खबर है. दिल्ली एनसीआर में भी पांच लोगों की मौत हुई है. उत्तर प्रदेश के संभलपुर में बिजली गिरने से लगी आग में करीब 100 घर खाक हो गए.

उधर, मौसम विभाग ने उत्तर भारत के एक बड़े हिस्से में एक और तूफान की चेतावनी दी है. उसके मुताबिक बारिश के साथ यह तूफान अगले दो-तीन दिनों में आ सकता है. विभाग ने इस सिलसिले में उत्तर, पूर्वोत्तर और ओडिशा के लिए ऑरेंज कैटेगरी वार्निंग जारी की है. इसका मतलब है कि इससे जान-माल का नुकसान होने की प्रबल आशंका है. इससे पहले, इस महीने की शुरुआत में आए जबर्दस्त तूफान से भी उत्तर और पश्चिमी भारत में अलग-अलग जगहों पर 124 लोगों की मौत हो गई थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान की वजह से लोगों की मौत पर दुख़ जताया है. एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘देश के कुछ हिस्सों में तूफ़ान की वजह से हुए नुकसान से दुखी हूं. प्रभावित परिवारों के प्रति संवेदनाएं. मैं घायल लोगों के शीघ्र स्वास्थ्यलाभ की कामना करता हूं.’ प्रधानमंत्री ने कहा कि अधिकारियों से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद मुहैया कराने के लिए कहा गया है.