सोमवार को दिल्ली के आखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली का किडनी प्रत्यारोपण (ट्रांसप्लांट) आॅपरेशन हुआ. डेकन क्रॉनिकल ने एम्स के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से लिखा है कि यह आॅपरेशन पूरी तरह सफल रहा है. अरुण जेटली और उन्हें किडनी देने वाले, दोनों की हालत में सुधार हो रहा है. 65 वर्षीय अरुण जेटली बीते हफ्ते शनिवार को इस ऑपरेशन के लिए एम्स में दाखिल हुए थे.

इससे पहले किडनी प्रत्यारोपण के लिए अरुण जेटली को पिछले महीने भी एम्स में भर्ती कराया गया था. लेकिन उस वक्त डोनर और उनकी किडनी का मेल न होने की वजह से आॅपरेशन टाल दिया गया था. आॅपरेशन टलने की वजह से अरुण जेटली बीते एक महीने से डायलिसिस पर थे. साथ ही स्वास्थ्य कारणों से डॉक्टरों ने उन्हें सार्वजनिक जगहों पर जाने से भी मना कर दिया था. ऐसे में वे अपना कामकाज घर से ही निपटा रहे थे. इसी वजह से उन्हें अपना ब्रिटेन दौरा भी रद्द करना पड़ा था. बताया जाता है कि बीते वर्षों में डायबिटीज से ग्रस्त होने की वजह से 2014 में अरुण जेटली को बैरियाट्रिक सर्जरी (चर्बी घटाने के लिए होने वाला ऑपरेशन) करानी पड़ी थी. कई साल पहले उनके दिल का भी ऑपरेशन हुआ था.