भारतीय जनता पार्टी के नेता बीएस येद्दियुरप्पा कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल वजूभाई वाला ने उन्हें राजभवन में हुए सादा समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. येद्दियुरप्पा राज्य के 23वें मुख्यमंत्री हैं. वे तीसरी बार यह पद संभाल रहे हैं.

ख़बरों के मुताबिक येद्दियुरप्पा ने अभी अकेले ही शपथ ली है. विधानसभा में बहुमत साबित करने के बाद उनकी सरकार के अन्य मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी. शपथ समारोह के दौरान केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, जेपी नड्‌डा और धर्मेंद्र प्रधान ख़ास तौर पर मौज़ूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो सके.

यहां बताते चलें कि राज्यपाल वजूभाई वाला ने बुधवार की रात येद्दियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया था. इस आधार पर कि चुनाव में 104 सीटें जीतकर भाजपा सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है. उन्होंने इसके साथ भाजपा विधायक दल के नेता येद्दियुरप्पा को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय भी दिया है

उधर, भाजपा नेताओं ने विश्वास जताया है कि येद्दियुरप्पा बहुमत साबित कर देंगे. शपथग्रहण समारोह में पहुंचे भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा, ‘हमें राज्यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए वक्त दिया है और सदन में हम इसे साबित कर देंगे.’

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने देर रात चली बहस के बाद येद्दियुरप्पा के शपथग्रहण पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था. कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिए जाने के बाद कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर ने मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के समक्ष याचिका दायर की थी. लंबी बहस के बाद कोर्ट ने शपथग्रहण रोके जाने की मांग खारिज कर दी. सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा से समर्थक विधायकों की सूची के साथ राज्यपाल को दिया गया समर्थन पत्र भी देने को कहा है. कोर्ट अब इस मामले में शुक्रवार सुबह सुनवाई करेगा. इस बीच खबर यह भी है कि कांग्रेस और जद-एस आज कर्नाटक विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन करेंगे.