तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) का कहना है कि 2019 के लोक सभा चुनाव के नतीज़े भी कर्नाटक जैसे होने वाले हैं. यानी त्रिशंकु लोक सभा बनने के आसार हैं. इसमें भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ा दल तो हो सकती है पर उसे पूरा बहुमत नहीं मिलेगा.

हैदराबाद में बुधवार रात मीडिया के प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए केसीआर ने कहा, ‘क्षेत्रीय दलों के संभावित गठबंधन (फेडरल फ्रंट) का पूरा एजेंडा और स्वरूप अगले दो महीने में साफ हो जाएगा. हमारा एजेंडा ही मुख्य हथियार होगा. यह सिर्फ़ राजनीतिक गठबंधन नहीं बल्कि इससे आगे होगा. एक बार एजेंडे को अंतिम रूप दिए जाने के बाद इसकी शुरूआत धमाकेदार होगी. यह फेडरल फ्रंट 2019 के लोक सभा चुनाव के बाद केंद्र में सरकार बनाने में सबसे अहम भूमिका अदा करेगा.’

ग़ौरतलब है कि केसीआर काफ़ी समय से तमाम क्षेत्रीय दलों को एक मंच पर लाकर फेडरल फ्रंट बनाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने इस फ्रंट के बारे में आगे बताया, ‘उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी बड़ी ताक़त हैं. इनके साथ अन्य राज्यों की ऐसी ही सभी अहम ताक़तें फेडरल फ्रंट में शामिल होंगी. मैं जल्द ही इस बाबत ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और आंध्र प्रदेश के चंद्रबाबू नायडू से भी मिलूंगा. उनसे इस मोर्चे को समर्थन देने का आग्रह करूंगा.’