10 साल बाद दिल्ली दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर होगा. संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग (यूएन डेसा) की एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है. इसके मुताबिक साल 2050 तक दुनिया की दो-तिहाई आबादी शहरों में रहेगी. उनमें से ज्यादातर लोग भारत, चीन और नाइजीरिया में रह रहे होंगे. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2028 तक दिल्ली की आबादी तीन करोड़ 72 लाख हो जाएगी. फिलहाल इस मामले में टोक्यो सबसे आगे है जहां तीन करोड़ 70 लाख लोग रहते हैं.

इतने ही समय में भारत दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश भी बन जाएगा. इस समय वह दूसरे नंबर पर है. पहले नंबर पर चीन आता है. इसके अलावा केवल शहरी आबादी की बात करें तो 2050 तक दुनिया के एक-तिहाई शहरी लोग केवल तीन देशों - भारत, चीन और नाइजीरिया - में रह रहे होंगे. मौजूदा समय में दुनिया की 55 प्रतिशत आबादी शहरों में है. रिपोर्ट के मुताबिक अगले कुछ सालों में दुनिया की ग्रामीण आबादी में अधिकतम वृद्धि होगी. उसके बाद 2050 तक उसमें कमी आएगी और लोग शहरों का रुख करेंगे.