पाकिस्तान के लाहौर हाईकोर्ट ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर राजद्रोह का मामला चलाने की मांग को लेकर दायर याचिका खारिज कर दी है. हाल ही में नवाज शरीफ ने सीमापार अातंकवाद और मुंबई में हुए अातंकी हमले को लेकर पाकिस्तान की भूमिका की अालोचना की थी.

शरीफ के खिलाफ यह याचिका पाकिस्तान जिंदाबाद पार्टी के मुखिया और वकील अाफताब विर्क ने लगाई थी. इसमें उनकी दलील थी कि शरीफ का बयान पाकिस्तान के खिलाफ राजद्रोह की श्रेणी में आता है. हालांकि लाहौर हाईकोर्ट ने यह कहते हुए याचिका खारिज कर दी कि याचिकाकर्ता को इसके लिए उचित फोरम पर जाना चाहिए.

बीते हफ्ते पाकिस्तानी अखबार डॉन में नवाज शरीफ की एक बातचीत प्रकाशित हुई थी. इसमें नवाज़ शरीफ ने स्वीकार किया था कि मुंबई पर 2008 में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ था. शरीफ के इस बयान के बाद से पाकिस्तान में राजनीतिक भूचाल अाया हुअा है. मुंबई अातंकी हमले में पाकिस्तान के मददगार होने के उनके बयान को देश की नेशनल सिक्योरिटी कमेटी गलत और भ्रामक बता चुकी है. हालांकि नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग ने शरीफ के बयान का बचाव करते हुए कहा था कि भारतीय मीडिया ने इस बयान को गलत तरीके से पेश किया है.