अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई बढ़ोतरी को देखते हुए देश की तेल कंपनियों ने लगातार चौथे दिन पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी कर दी है. खबरों के मुताबिक गुरुवार को पेट्रोल के दाम में 22 और डीजल के दाम में 86 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि कर दी गई. इस वृद्धि के बाद राजधानी में पेट्रोल का भाव 75.32 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. इससे पहले सितंबर 2013 में 76.06 रुपये प्रति लीटर के भाव पर दिल्ली में पेट्रोल बेचा गया था जो इसका सर्वोच्च स्तर था.

इसी तरह डीजल के दाम में हुई वृद्धि के बाद यह अब तक के अपने सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है. गुरुवार को भाव बढ़ने के बाद दिल्ली में डीजल 66.79 रुपये, कोलकाता में 69.33, मुंबई में 71.12 और चेन्नई में 70.49 रुपये प्रति लीटर के दाम पर बेचा गया.

उधर द टाइम्स आॅफ इंडिया की एक खबर में संभावना जताई गई है कि पेट्रोल और डीजल के दामों में आने वाले दिनों में चार रुपये प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी देखी जा सकती है. अखबार ने कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज की रिपोर्ट के हवाले से लिखा है कि कर्नाटक चुनाव के दौरान करीब 19 दिनों तक तेल कंपनियों ने ईंधन के दामों में कोई इजाफा नहीं किया था. इस बीच कच्चे तेल की कीमत 84.68 डॉलर प्रति बैरल से 88.93 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई हैं.

इस रिपोर्ट के मुताबिक अगर देश की सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों को कर्नाटक चुनाव के पहले वाले अंतर को हासिल करना है तो उन्हें पेट्रोल और डीजल की कीमत में करीब चार रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी करनी होगी. रिपोर्ट में इस वृद्धि के पीछे डॉलर के मुकाबले रुपये की गिरावट को भी बताया गया है. बीते दिनों में डॉलर की तुलना में भारतीय मुद्रा में गिरावट का रुख देखा गया है.