कर्नाटक चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद अपने विधायकों को लेकर जगह-जगह दौड़ रही कांग्रेस पार्टी ने इस बार उनसे अपने मोबाइल फोन जमा करने के लिए नहीं कहा है. बल्कि इस बार विधायकों को एक काल रिकार्डिंग मोबाइल एप डाउलनोड करने को कहा गया है. खबरों के मुताबिक पार्टी चाहती है कि विधायक मोबाइल एप डाउनलोड कर भाजपा नेताओं की फोन कॉलों को रिकॉर्ड करें ताकि बहुमत की जुगत मे लगी भाजपा अगर किसी को पैसे से खरीदने की कोशिश करे तो उसका भांडाफोड़ हो जाए.

एनडीटीवी के मुताबिक कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि विधायकों को सलाह दी गई है कि वे फोन पर होने वाली बातचीत की रिकॉर्डिंग के लिए मोबाइल एप डाउनलोड करें. उन्होंने एक वाकये का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा विधायक श्रीरामुलु ने कांग्रेस के एक विधायक से संपर्क करने का प्रयास किया था. हालांकि कुछ देर के बाद वह फोन कट गया था.

उधर, श्रीरामुलु ने इस आरोप से इनकार किया है कि भाजपा विरोधी कैंप के विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है. साथ ही उन्होंने विश्वास जताया कि येद्दियुरप्पा विधानसभा में बहुमत सिद्ध कर देंगे. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि भाजपा यह कैसे करेगी. इसके बजाय उन्होंने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस में उनकी तरह सोचने वाले विधायक हैं.

इस बार कर्नाटक चुनाव में भाजपा को 104 सीटें मिली हैं और बहुमत सिद्ध करने के लिए उसे आठ और विधायकों को जरूरत है. उधर, कांग्रेस और जेडीएस 116 सीटें होने का दावा कर रहे हैं. उनका कहना है कि निर्दलीय उम्मीदवार भी उन्हीं के साथ हैं. चुनाव के बाद बने इस गठबंधन के नेताओं ने एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला किया था. बुधवार को कुमारस्वामी ने आरोप लगाया था कि भाजपा उनकी पार्टी के विधायकों को 100 करोड़ रुपये का लालच देकर तोड़ने की कोशिश कर रही है. हालांकि भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस आरोप को खारिज कर दिया था.