शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के अर्निया जिले में संघर्ष विराम तोड़े जाने पर प्रदेश की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान की कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा है कि रमजान के पवित्र महीने के प्रति भी पाकिस्तान कोई सम्मान नहीं दिखा रहा है.

एक ट्वीट में महबूबा मुफ्ती ने लिखा है, ‘जम्मू-कश्मीर की सीमा पर लगातार हो रही गोलाबारी दुख और चिंता का विषय है. भारत ने राज्य में शांति स्थापित करने के लिए आतंकवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान को रोकने की एकतरफा घोषणा की है लेकिन अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान लगातार संघर्ष विराम को तोड़ रहा है.’

उन्होंने आगे लिखा है, ‘भारत की तरफ से किए जा रहे शांति प्रयासों में पाकिस्तान को भी सहयोग देना होगा. हर किसी को समझना चाहिए कि हिंसा से किसी बात का समाधान नहीं निकाला जा सकता.’ इसके अलावा पाकिस्तान की तरफ से हुई गोलाबारी में मारे गए लोगों के परिवारों के साथ मुख्यमंत्री ने अपनी संवेदनाएं भी जाहिर की हैं.

शुक्रवार की सुबह पाकिस्तान ने सीमा पार से जम्मू-कश्मीर के अर्निया जिले में भारी गोलाबारी की थी. इसमें बीएसएफ का एक जवान शहीद हुआ है और साथ ही चार स्थानीय लोगों की मौत हुई है.