करीब तीन महीने पहले कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की संयुक्त स्नातक स्तर (टियर 2) की परीक्षा का पेपर कथित तौर पर लीक हो गया था. पेपर लीक के इस मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) कर रही है. इस बीच केंद्र सरकार ने एसएससी के अध्यक्ष असीम खुराना का कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा दिया है. द इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि इस पद की अधिकतम आयु सीमा को बढ़ाने के लिए सरकार ने बाकायदा एसएससी के नियमों में संशोधन भी किया है.

गुजरात कैडर के आईएएस अफसर असीम खुराना को दिसंबर 2015 में इस पद पर नियुक्त किया गया था. 62 साल की उम्र होने पर उनका कार्यकाल इसी महीने की 12 तारीख को खत्म हुआ था. इसके दो दिन बाद प्रशिक्षण एवं कार्मिक विभाग ने एक नोट जारी करते हुए कहा कि उनका कार्यकाल एक साल बढ़ाए जाने को मंजूरी दी गई है. नोट में यह भी कहा गया है कि नियमों में संशोधन करके इस पद के अधिकारी की अधिकतम उम्र सीमा को 65 साल कर दिया गया है.

उधर एसएससी की संयुक्त स्नातक स्तर की जिस परीक्षा का पेपर कथित तौर पर लीक हुआ था वह इसी साल 17 से 22 फरवरी के दौरान कराई गई थी. पेपर लीक होने की खबरें आने के बाद बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन देखने को मिला था. फिर इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की गई थी. इस दौरान एसएससी ने फैसला किया कि परीक्षा के नतीजे सीबीआई जांच पूरी होने के बाद घोषित होंगे. खबरों के मुताबिक इस मामले में सीबीआई ने कई गिरफ्तारियां की हैं.

एसएससी की संयुक्त स्नातक स्तर की इस परीक्षा के लिए करीब 30.26 लाख परीक्षार्थियों ने अपना नाम दर्ज कराया था. टियर-1 परीक्षा में करीब 15.43 लाख आवेदक बैठे थे, जिनमें से टियर-2 परीक्षा के लिए 1.89 लाख परीक्षार्थियों का चयन किया गया था. इनमें से 1.41 लाख आवेदकों ने परीक्षा दी थी. इस परीक्षा के जरिये 35 मंत्रालयों और कुछ अन्य विभागों में आठ हजार नियुक्तियां की जानी थीं.