कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद से बीएस येद्दियुरप्पा के इस्तीफा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक कॉन्फ्रेंस की है. इसमें उन्होंने भाजपा और मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि वे संस्थाओं का सम्मान नहीं करते. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक राहुल गांधी ने कहा है, ‘क्या आपने देखा कि कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही के बाद राष्ट्रगान शुरू होने से पहले ही भाजपा विधायक और स्पीकर सदन छोड़कर चले गए थे. यह बताता है कि सत्ता में रहते हुए वे किसी संस्थान का सम्मान नहीं करते. भाजपा और आरएसएस दोनों ने संस्थाओं का अपमान किया है.’

राहुल गांधी यहीं नहीं रुके. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त में वे (प्रधानमंत्री) खुद शामिल थे. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘आपने देखा है कि कैसे कर्नाटक में सीधे प्रधानमंत्री की तरफ से विधायकों को खरीदने की स्वीकृति दी गई. लिहाजा यह दावा कि प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार से लड़ रहे हैं साफ झूठ है. वे खुद भ्रष्टाचार हैं.’ वहीं, बीते मंगलवार को चुनाव नतीजों की घोषणा के बाद से कांग्रेस और जेडीएस के साथ होने को लेकर राहुल गांधी ने कहा, ‘मुझे गर्व है कि विपक्ष एक साथ खड़ा रहा और भाजपा को हराया. हम ऐसा आगे भी करते रहेंगे.’

उधर, राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जाने के बाद भाजपा की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है. पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा है, ‘वे (राहुल गांधी) प्रधानमंत्री के बारे में क्या कह रहे हैं! यही वो प्रधानमंत्री है जिसने घोटाला मुक्त सरकार दी है. अगर वे ऐसा आरोप लगाते हैं तो लोग कहेंगे कि उनका दिमाग फिर गया है.’