कर्नाटक में सियासी मोर्चे पर नाटकीय उतार-चढ़ाव के बीच भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस-जेडीएस पर जमकर हमला बोला है. सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस ने अपने विधायकों को फाइव स्टार होटल में बंधक बनाकर रखा था. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस अगर अपने विधायकों को विजयी जुलूस भी निकालने देते तो आज कर्नाटक में भाजपा की सरकार होती.

भाजपा अध्यक्ष ने स्पष्ट बहुमत न मिलने पर भी सरकार बनाने के फैसले का बचाव किया. उन्होंने कहा कि ऐसा पार्टी ने सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते किया. उनका कहना था, ‘बिल्कुल सही बात है कि पूर्ण बहुमत नहीं होने के बावजूद बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा किया, पर बहुमत तो किसी के पास नहीं था.’

कांग्रेस द्वारा गोवा और मणिपुर का उदाहरण दिए जाने को लेकर भी उन्होंने जवाबी हमला किया. अमित शाह ने कहा कि गोवा और मणिपुर में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों में सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा नहीं किया. उनका कहना था कि कांग्रेस के नेता आराम करते रहे.

अमित शाह ने कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस के गठबंधन को अपवित्र बताया. उनका कहना था, ‘सुप्रीम कोर्ट में जब केस चल रहा था तो कहा गया कि कोई नेता ने पैसे का लालच देने के लिए फ़ोन किया गया. अब कांग्रेस नेताओं ने स्वीकार किया है कि वो खबर फर्जी थी.’

इससे पहले, कांग्रेस विधायक शिवराम हेब्बर ने कांग्रेस के उस दावे को झूठा बताया जिसमें कहा गया था कि उन्हें और उनकी पत्नी को भाजपा ने पैसे का लालच दिया था. शिवराम हेब्बर ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने जो ऑडियो जारी किया है उसमें उनकी पत्नी की आवाज नहीं है. बीएस येदियुरप्पा के बहुमत साबित करने से पहले कांग्रेस ने एक ऑडियो क्लिपिंग जारी की थी. उसमें दावा किया गया कि था कि भाजपा नेता जनार्दन रेड्डी कांग्रेस विधायक को रिश्वत की पेशकश कर रहे हैं.