जनता दल-धर्मनिरपेक्ष (जेडीएस) के नेता एचडी कुमारस्वामी आज 23 मई को कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले हैं. उनके शपथ समारोह के बारे में पहले ख़बर आई थी कि यह आयोजन भारतीय जनता पार्टी के ख़िलाफ़ संयुक्त विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन हो सकता है. लेकिन अब इस ख़बर में थोड़ा बदलाव होने की संभावना ज़ताई जा रही है क्योंकि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) के बारे में कहा जा रहा है कि वे इस समारोह से दूरी बनाने वाले हैं.

डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक केसीआर मंगलवार शाम बेंगलुरु गए थे. वे वहां जेडीएस नेता कुमारस्वामी से मिले. उन्हें मुख्यमंत्री पद संभालने की अग्रिम बधाई दी और उल्टे पांव हैदराबाद लौट आए. केसीआर के कार्यालय ने इसकी पुष्टि की है. जबकि अगले दिन यानी आज बुधवार को कुमारस्वामी का शपथ समारोह है. इस समारोह को विपक्षी का एकता का शक्ति प्रदर्शन बनाने की तैयारी हो रही है. इसमें आंध्र के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी, वाम दलों के तमाम नेता, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव, सहित विपक्ष के और भी कई बड़े नेताओं के शामिल होने की संभावना है.

समारोह में शामिल होने के लिए बुलावा तो केसीआर के पास भी भेजा गया है लेकिन केसीआर से जुड़े नज़दीकी सूत्रों की मानें तो वे कांग्रेस के नेताओं के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते. चूंकि कुमारस्वामी सरकार में कांग्रेस बड़ी साझीदार है और शपथ समारोह में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सहित वरिष्ठ कांग्रेसी भी हिस्सा ले रहे हैं. जबकि केसीआर इन दिनों क्षेत्रीय दलों का ऐसा गठबंधन बनाने की कोशिश में हैं जो कांग्रेस और भाजपा से समान दूरी रखे इसीलिए उन्होंने इस कार्यक्रम से भी दूर रहने का फ़ैसला किया है. जिससे कि उन्हें अपना मक़सद पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ते वक़्त भविष्य में किसी असहज स्थिति का सामना न करना पड़े.