कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद से पेट्रोल और डीजल की कीमत में जारी बढ़ोतरी को लेकर विपक्ष ने सरकार पर हमला तेज कर दिया है. बुधवार को कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने दावा किया कि अगर सरकार चाहे तो पेट्रोल की कीमत प्रति लीटर 25 रुपये तक घटा सकती है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘पेट्रोल की कीमत में प्रति लीटर 25 रुपये की कटौती संभव है लेकिन सरकार ऐसा नहीं करेगी. वे पेट्रोल की कीमत में एक-दो रुपये की कटौती करके जनता को धोखा देंगे.’

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर जानबूझकर पेट्रोल की कीमत ऊंची रखने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘(अंतरराष्ट्रीय बाजार में) कच्चे तेल का दाम घटने से प्रति लीटर पेट्रोल के कीमत में 15 रुपये की कमी आई थी. इसके बाद सरकार ने भी प्रति लीटर पेट्रोल पर 10 रुपये टैक्स बढ़ा दिया.’ पी चिदंबरम ने यह भी कहा कि प्रति लीटर पेट्रोल मिल रहे 25 रुपयों से सरकार को अकूत कमाई हो रही है लेकिन इन पैसों पर आम जनता का अधिकार है.

देश में मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे ज्यादा है. बुधवार को प्रति लीटर लगभग 30 पैसे की बढ़ोतरी के बाद यहां पेट्रोल की कीमत 84.99 रुपये हो गई. इसके अलावा दिल्ली में पेट्रोल की प्रति लीटर कीमत 76.87 रुपये से बढ़कर 77.17 रुपये पहुंच गई. हालांकि, 20 मई को पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ोतरी का हल निकालने का वादा किया था. इस कुछ अधिकारियों ने बताया है कि सरकार अगले कुछ दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में दो से चार रुपये तक की कटौती कर सकती है. इसमें उत्पाद शुल्क घटाने का भी कदम शामिल हो सकता है.