भारतीय जनता पार्टी के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय के 21 साल के पुत्र वैष्णव का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है. ख़बरों के मुताबिक एमबीबीएस तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रहे वैष्णव को बुधवार रात सीने में दर्द हुआ. इसके बाद उन्हें तुरंत मुशीराबाद के गुरुनानक केयर हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक बंडारू वैष्णव रामनगर स्थित अपने घर पर परिवार के साथ रात के समय खाना खा रहे थे जब उन्हें दिल का दौरा पड़ा. उनके निधन से पूरा परिवार सदमे में है क्योंकि उनके भीतर पहले कभी ऐसे लक्षण नहीं दिखे कि उन्हें दिल का दौरा पड़ सकता है. परिवार के एक सदस्य ने बताया, ‘उन्हें न तो दिल की कोई बीमारी थी और न अन्य ही. इसके बावज़ूद पहले ही दिल के दौरे से उनका निधन होने में बमुश्किल पांच से 10 मिनट लगे. डॉक्टरों को उन्हें बचाने तक वक़्त नहीं मिला.’

परिजनों के मुताबिक परिवार में दो अन्य सदस्य भी मेडिकल की पढ़ाई कर रहे हैं. उन्होंने भी वैष्णव को बचाने की कोशिश की लेकिन वे सफल नहीं हुए. अस्पताल ने भी अपने मेडिकल बुलेटिन में वैष्णव के निधन का कारण अचानक दिल का दौरा पड़ना ही बताया है.