तमिलनाडु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (टीएनपीसीबी) ने तूतिकोरिन स्थित स्टरलाइट कॉपर प्लांट को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया है. बोर्ड ने प्लांट की बिजली सप्लाई रोकने का भी आदेश दिया. द हिंदू के मुताबिक सूत्रों ने बताया कि बुधवार को टीएनपीसीबी के चेयरमैन की तरफ से प्लांट को बंद करने के आदेश दिए गए थे. इसके बाद आज सुबह प्लांट की बिजली काट दी गई.

टीएनपीसीबी ने जल (प्रदूषण निवारण व नियंत्रण) अधिनियम, 1974 की धारा 33ए और वायु (प्रदूषण निवारण व नियंत्रण) अधिनियम, 1971 की धारा 31ए के तहत प्लांट बंद करने और इसकी बिजली काटने का आदेश जारी किया है. वेदांता समूह के इस प्लांट को बंद कराने की मांग को लेकर मंगलवार को तूतिकोरिन में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी. इसमें 12 लोगों की मौत हो गई थी जबकि कई घायल हुए थे. बुधवार को भी प्लांट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रहा.

हालात को देखते हुए तमिलनाडु सरकार ने जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया है. वहीं, हिंसा की जांच के लिए मद्रास हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज अरूणा जगदीशन की अगुवाई में एक सदस्यीय जांच आयोग गठित किया गया है. फिलहाल पूरे तूतिकोरन शहर में धारा 144 लगा दी गई है. इंटरनेट सेवा भी बंद है.