सनराइजर्स हैदराबाद आईपीएल 11 के फाइनल में पहुँच गई है. शुक्रवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए पहले क्वालीफायर मुकाबले में उसने दो बार की चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को 13 रनों से हरा दिया. हैदराबाद की टीम द्वारा दिए गए 174 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए केकेआर नौ विकेट खोकर 161 रन ही बना सकी.

सनराइजर्स हैदराबाद की इस जीत में सबसे अहम भूमिका अफगानिस्तान के स्पिन गेंदबाज राशिद खान ने निभाई. राशिद खान ने दो मौकों पर अपनी टीम को संकट की घड़ी से बाहर निकाला और मैच में वापसी कराई. उन्होंने ने न केवल गेंद से कमाल दिखाया बल्कि बल्ले से भी निर्णायक पारी खेली. पहले बल्लेबाजी में निचले क्रम पर आए राशिद ने 10 गेंदों पर 2 चौके और 4 छक्कों की मदद से ताबड़तोड़ 34 रन बनाए. इसके बाद अच्छी स्थिति में नजर आ रही केकेआर के तीन खिलाड़ियों को आउट कर उन्होंने मैच का रुख ही बदल दिया.

इससे पहले इस मैच में कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक ने टॉस जीतकर हैदराबाद को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया. हैदराबाद की शुरुआत अच्छी रही. शिखर धवन और रिद्धिमान साहा ने पॉवर प्ले के छह ओवरों में 45 रन जोड़े. लेकिन, सातवें ओवर में कुलदीप यादव ने पहले शिखर धवन और और फिर कप्तान केन विलियम्सन को आउट कर हैदराबाद को बड़ा झटका दिया. इसके बाद कोलकाता की स्पिन तिकड़ी ने हैदराबाद के बल्लेबाजों को उभरने का मौका नहीं दिया और दबाव बनाकर रखा.

18 ओवर में 138 रनों पर अपने सभी सातों महत्वपूर्ण बल्लेबाजों को खोने वाली हैदराबाद की टीम 150 रन के आंकड़े तक ही पहुंचती दिख रही थी. लेकिन, इसके बाद आए राशिद खान ने 10 गेंदों पर 34 रन बनाकर अपनी टीम का स्कोर सात विकेट पर 174 पहुंचा दिया. कोलकाता की ओर से सभी स्पिन गेंदबाजों ने बेहतरीन गेंदबाजी की. पीयूष चावला और सुनील नरेन ने किफायती गेंदबाजी करते हुए एक-एक विकेट लिया. जबकि, कुलदीप यादव ने दो बल्लेबाजों को पैवेलियन भेजा.

हैदराबाद के 174 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी केकेआर की शुरुआत काफी अच्छी रही. क्रिस लिन और सुनील नरेन ने शुरूआती तीन ओवर में ताबड़तोड़ 40 रन जोड़ दिए. चौथे ओवर में नरेन के आउट होने के बाद भी केकेआर के बल्लेबाज तेजी से रन बनाते रहे और पॉवर प्ले के छह ओवरों में 67 रन जोड़ दिए.

एक समय 10 ओवर में दो विकेट खोकर केकेआर काफी अच्छी स्थिति में पहुंच चुकी थी और अभी रॉबिन उथप्पा, दिनेश कार्तिक और आंद्रे रसेल जैसे बल्लेबाजों का आना बाकी ही था. लेकिन, इसके बाद शकीबुल हसन और राशिद खान की स्पिन जोड़ी ने लगातार तीन ओवरों में केकेआर के रॉबिन उथप्पा, दिनेश कार्तिक और क्रिस लिन को आउट कर हैदराबाद की मैच में वापसी करा दी. इसके बाद कोलकाता का कोई भी बल्लेबाज उसे मैच जीतने की स्थिति में नहीं ला सका. हैदराबाद की ओर से शकीबुल हसन ने एक विकेट लिया जबकि कार्लोस ब्रेथवेट और सिद्दार्थ कौल ने दो-दो खिलाड़ियों को आउट किया.

ईडन गार्डन्स की खूबी का लाभ सनराइजर्स को भी मिला

इस मैच में शुरू से हर किसी नजर दोनों टीमों के स्पिन आक्रमण पर थी. इसकी एक वजह यह भी थी कि आईपीएल के इस सीजन में ईडन गार्डन्स स्पिनरों के लिए स्वर्ग जैसा रहा है. इस मैच से पहले तक स्पिनरों ने यहां 51 विकेट झटके हैं और इन्हें हर 17 गेंदों के बाद विकेट मिला है. ईडन गार्डन्स पर केकेआर की कामयाबी का एक बड़ा कारण यह भी माना जाता है. लेकिन, इस समय सनराइजर्स के स्पिनर भी जिस लय में हैं उसे देखते हुए ईडन गार्डन्स की इस खूबी का लाभ इन्हें भी मिलना लगभग तय था और ऐसा हुआ भी.

बहरहाल, फाइनल में पहुंच चुकी सनराइजर्स हैदराबाद को अब इस सीजन का खिताबी मुकाबला रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेलना है. चेन्नई इससे पहले इस सीजन में हैदराबाद से तीन बार भिड़ी है और उसने ये सभी मुकाबले जीते हैं. हालांकि, मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले इस सबसे अहम मुकाबले से पहले हैदराबाद के लिए एक अच्छी खबर यह है कि वह जीत की पटरी पर लौट चुकी है.