आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक सदस्य कुमार विश्वास ने भाजपा नेता अरुण जेटली से मानहानि के मामले में लिखित माफी मांग ली है. इसके बाद अरुण जेटली ने आप नेता का माफीनामा स्वीकार कर लिया. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. इससे पहले कुमार विश्वास ने पार्टी के अन्य नेताओं के साथ अरुण जेटली से माफी मांगने से इनकार कर दिया था. इसकी वजह से ने उनके खिलाफ मामला वापस नहीं लिया गया था. साल 2015 में अरविंद केजरीवाल और उनके साथी नेताओं ने भाजपा नेता पर दिल्ली जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) का अध्यक्ष रहते हुए उसमें बड़े पैमाने पर वित्तीय धांधली करने का आरोप लगाया था.

उधर, तमिलनाडु सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए तूतिकोरिन स्थित स्टरलाइट कॉपर प्लांट को हमेशा के लिए बंद करने का आदेश दिया है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. राज्य के उपमुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने कहा कि यह फैसला जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए लिया गया है. बीती 22 मई को इस प्लांट का विरोध कर रहे लोगों पर पुलिस फायरिंग में 13 लोगों की मौत हो गई थी. तूतिकोरिन के लोग लंबे समय से इस प्लांट का विरोध कर रहे थे. उनका कहना था कि इससे होने वाले प्रदूषण के चलते उन्हें सेहत संबंधी काफी दिक्कतें हो रही हैं.

बिहार : शिक्षकों का छात्रों के साथ बिहार दर्शन के बहाने शराब पीने के लिए नेपाल जाने का मामला सामने आया

बिहार में कटिहार स्थित एक स्कूल के शिक्षकों के शैक्षणिक भ्रमण के बहाने शराब पीने के लिए नेपाल जाने का मामला सामने आया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इन्हें छात्रों को साथ लेकर भागलपुर स्थित विक्रमशिला जाना था. लेकिन, इसकी जगह उन्होंने भारत-नेपाल सीमा पर स्थित विराटनगर जाना का फैसला किया. बताया जाता है कि यह बात छात्रों द्वारा अपने अभिभावकों के सामने इस बारे में शिकायत करने के बाद सामने आई है. इन छात्रों ने बताया कि उनके शिक्षकों ने नेपाल में शराब पीने के बाद वापसी के दौरान बस में उल्टियां की. इसके बाद बस की सफाई भी छात्रों और रसोइये को करनी पड़ी. इन छात्रों को मुख्यमंत्री बिहार दर्शन योजना के लिए बीती 24 मई को नेपाल ले जाया गया था.

आईआरसीटीसी यात्रियों को बताएगा कि टिकट कन्फर्म होगा या नहीं

रेल यात्रा के लिए कन्फर्म टिकट की मारामारी के बीच आईआरसीटीसी वेबसाइट ने यात्रियों के लिए कुछ राहत का ऐलान किया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक अब आईआरसीटीसी अपने उपभोक्ताओं को यह भी बताएगा कि उनके वेटिंग टिकट के कन्फर्म होने की कितनी उम्मीद है. अखबार को भारतीय रेल के एक शीर्ष अधिकारी ने यह भी बताया कि इस वेबसाइट को यात्रियों के लिए सहूलियत भरा बनाने के लिए कई उपाय किए गए हैं. अधिकारी की मानें तो अन्य निजी एप के मुकाबले आईआरसीटीसी पर सटीक जानकारी मिलेगी.

आधार पंजीकरण को लेकर जारी आदेश के बाद बैंककर्मियों की मुश्किलें बढ़ी

आधार कार्ड को लेकर ताजा निर्देश ने बैंककर्मियों की मुश्किलें बढ़ा दी है. अमर उजाला के पहले पन्ने पर प्रकाशित खबर के मुताबिक विशिष्ट पहचान पत्र प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने बैंकों के प्रबंध निदेशकों को प्रतिदिन 16 आधार पंजीकरण कराने का निर्देश दिया है. इस निर्देश में यह भी कहा गया है कि इस लक्ष्य को पूरा न करने पर संबंधित बैंककर्मी के वेतन में कटौती की जाएगी. साथ ही, बैंकों के खिलाफ वित्तीय जुर्माना लगाने की चेतावनी भी जारी की गई है. अवैधी वसूली की शिकायतें मिलने के बाद निजी आधार पंजीकरण केंद्र बंद कर दिए गए हैं और इन्हें अब बैंकों और डाकघरों में खोला जा रहा है. यूआईडीएआई के ताजा आदेश का मतलब यह भी है कि बैंककर्मियों को अब उन लोगों को ढूंढना भी होगा जिनके आधार कार्ड अब तक नहीं बने हैं.

राष्ट्रीय राजनीतिक दल आरटीआई के दायरे में हैं : चुनाव आयोग

चुनाव आयोग ने सोमवार को साफ किया कि राष्ट्रीय राजनीतिक दल सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के दायरे में आते हैं. द हिंदू में प्रकाशित खबर के मुताबिक आयोग ने कहा है कि वह केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) के 2013 के आदेश के साथ है. इस आदेश में सीआईसी ने छह राष्ट्रीय दलों- भाजपा, कांग्रेस, एनसीपी, बसपा, सीपीएम और सीपीआई को आरटीआई के दायरे में लाने की बात कही थी. इससे पहले चुनाव में एक आरटीआई आवेदन के जवाब में कहा था कि इन राजनीतिक दलों द्वारा चुनावी बॉन्ड के जरिए हासिल चंदे के बारे में उसे जानकारी नहीं है. उसने राजनीतिक दलों को आरटीआई के दायरे से बाहर भी बताया था.