सीता का अपहरण किसने किया था? सब जानते हैं रावण ने. लेकिन गुजरात में स्कूल की एक किताब में लिखा है कि सीता का अपहरण राम ने किया था. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के मुताबिक गुजरात बोर्ड की 12वीं की संस्कृत की किताब में यह त्रुटि पाई गई है. खबर के मुताबिक किताब के पेज नंबर 106 पर लिखा है, ‘कवि ने राम के मौलिक चरित्र और विचारों का सुंदर दृश्य प्रस्तुत किया है. राम द्वारा सीता का अपहरण किए जाने के बाद राम को लक्ष्मण द्वारा दिया गया संदेश दिल को छू जाता है.’

‘संस्कृत साहित्य से परिचय’ नाम की यह किताब मात्राओं की त्रुटियों से भी भरी पड़ी है. बता दें कि रामायण को लेकर यह गलत जानकारी केवल अंग्रेजी माध्यम के बच्चों को मिल रही है. वहीं, गुजराती किताब में छपे कालीदास द्वारा रचित काव्य ‘रघुवंशम’ में यह जानकारी सही है.

अखबार के मुताबिक इस बारे में गुजरात स्टेट बोर्ड ऑफ स्कूल टेक्स्टबुक के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ नितिन पठानी से संपर्क किया गया. पहले तो उन्होंने ऐसी किसी गलती की जानकारी नहीं होने की बात कही. बाद में उन्होंने माना कि किताब में गलत जानकारी दी गई है. उन्होंने कहा कि यह अनुवाद की गड़बड़ी है जबकि गुजराती किताब में कोई गलती नहीं है.