केंद्रीय सड़क और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार के साथ पुणे में मुलाकात की. द हिंदू ने लिखा है कि करीब आधे घंटे की इस मुलाकात में दोनों नेताओं ने शहर के बुनियादी ढांचे को और बेहतर करने पर चर्चा की. बताया गया है कि इस दौरान इन दोनों के बीच राजनीतिक मुद्दों को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई. फिर भी नितिन गडकरी और शरद पवार की इस मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में बड़े सियासी उलटफेर की चर्चा गर्म हो गई है. महाराष्ट्र में भाजपा के अपनी सहयोगी शिव सेना से रिश्ते बिगड़ते जा रहे हैं.

उधर, नितिन गडकरी के कार्यालय ने इस मुलाकात की पुष्टि करते हुए एक ट्वीट किया है. इसमें कहा गया है कि दोनों नेताओं के बीच मेट्रो और रेल परियोजनाओं को लेकर बातचीत हुई थी. मुलाकात के दौरान शरद पवार ने केंद्रीय मंत्री को पुरंदर में बनने वाले हवाईअड्डे को रेल नेटवर्क से जोड़ने का सुझाव दिया साथ ही, उन्होंने पुणे पर बढ़ रहा बोझ घटाने के लिए इस शहर को मेट्रो रेल सेवा के जरिये लोनावला, सतारा और अहमदनगर से जोड़ने पर भी चर्चा की.

दोनों नेताओं के बीच यह एक हफ्ते के भीतर यह दूसरी मुलाकात है. खबरों के मुताबिक शुक्रवार की इस मुलाकात का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम नहीं था. 2014 के आम चुनाव से पहले महाराष्ट्र में भाजपा ने शिव सेना के साथ 1989 में गठजोड़ किया था. इसके बाद कांग्रेस से नाता जोड़ने वाली एनसीपी ने 2014 के आमचुनाव के परिणाम को देखते हुए भाजपा को बाहर से समर्थन देने की पेशकश की थी. समर्थन की इस पेशकश और दोनों नेताओं के बीच हाल की मुलाकातों के मद्देनजर भाजपा से नाराज चल रही शिव सेना के माथे पर भी शिकन पड़ना तय माना जा रहा है.