‘मोदी नाम का राक्षस अरविंद केजरीवाल का पैदा किया हुआ है.’

— अजय माकन, कांग्रेस नेता

कांग्रेस नेता अजय माकन का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उदय के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराते हुए आया. उन्होंने आगामी लोक सभा चुनाव में दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन की अटकलों को भी बेबुनियाद बताया. अजय माकन ने यह भी कहा कि शीर्ष नेतृत्व से बातचीत किए बगैर ऐसी कोई पहल नहीं की जा सकती है. आम आदमी पार्टी द्वारा कांग्रेस को लोक सभा की तीन सीटें देने के कथित प्रस्ताव पर कांग्रेस नेता का कहना था कि जब दिल्ली की जनता लगातार केजरीवाल सरकार को नकार रही है, तब कांग्रेस उसे क्यों बचाएगी.

‘मैंने पहले भी कहा है कि भाजपा की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है.’

— मायावती, बसपा प्रमुख

बसपा प्रमुख मायावती का यह बयान कैराना लोक सभा और नूरपुर विधानसभा सीट पर उपचुनावों में सत्ता में रहने के बावजूद भाजपा को मिली शिकस्त को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘भाजपा सभी जगहों पर हार रही है. वोट देने और भाजपा को हराने के लिए मैं कैराना और नूरपुर की जनता को धन्यवाद देना चाहूंगी.’ कैराना सीट पर उपचुनाव में राष्ट्रीय लोक दल की प्रत्याशी तबस्सुम हसन जीती हैं. उन्हें सपा, बसपा और कांग्रेस का समर्थन हासिल था. कैराना सीट भाजपा सांसद हुकुम सिंह के निधन से खाली हुई थी. वहीं, नूरपुर विधानसभा सीट पर सपा प्रत्याशी नईमुल हसन ने जीत दर्ज की है.


‘पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस पार्टी तालिबान कांग्रेस पार्टी है.’

— शाहनवाज हुसैन, भाजपा नेता

भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन का यह बयान पश्चिम बंगाल में पार्टी कार्यकर्ताओं की संदिग्ध मौतों के लिए सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘टीएमसी आतंकवाद को बढ़ावा दे रही है. अगर टीएमसी लड़ना ही चाहती है तो उसे यह वैचारिक स्तर पर लड़ना चाहिए.’ शाहनवाज हुसैन ने आगे कहा कि पश्चिम बंगाल में जिस तरह से भाजपा कार्यकर्ता को लटकाया गया, उससे ममता बनर्जी को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिम बंगाल की पुलिस टीएमसी के कॉडर की तरह काम कर रही है. भाजपा नेता के मुताबिक उनकी पार्टी अपने कार्यकर्ताओं की हत्या पर शांत नहीं बैठेगी.


‘राजनीतिक दल अपनी हार के लिए ईवीएम को आसानी से बलि का बकरा बना लेते हैं.’

— ओपी रावत, मुख्य चुनाव आयुक्त

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत का यह बयान राजनीतिक दलों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ किए जाने का आरोप लगाने पर आया. उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक दलों को अपनी हार के लिए किसी न किसी को दोष देने की जरूरत पड़ती है, इसलिए वे इसके लिए ईवीएम को चुनते हैं क्योंकि वह बोल नहीं पाती है.’ ओपी रावत ने आगे कहा कि ईवीएम की विश्वसनीयता पर कोई संदेह नहीं है, समय-समय पर इससे जुड़ी शंकाओं को दूर किया गया है. मुख्य चुनाव आयुक्त का यह भी कहना था कि ईवीएम की विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए उसके साथ वोटर वेरीफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) को जोड़ा जा रहा है.


‘नाफ्टा की जगह दो अलग-अलग समझौतों पर मुझे कोई दिक्कत नहीं होगी.’

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह बयान कनाडा और मैक्सिको के साथ हुए उत्तर अमेरिका मुक्त व्यापार समझौता (नाफ्टा) को लेकर आया. उन्होंने कहा कि अमेरिका के पड़ोसी देश (कनाडा और मैक्सिको) आपस में बहुत अलग हैं, इसलिए उनके लिए एक जैसा व्यापार कानून सही नहीं है. डोनाल्ड ट्रंप ने इसी हफ्ते कनाडा, मैक्सिको और यूरोपीय देशों से स्टील और एल्युमीनियम आयात पर शुल्क लगाने का ऐलान किया है. इससे अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको के बीच नाफ्टा पर प्रस्तावित वार्ता के लिए माहौल पहले से ही तनावपूर्ण हो गया है. अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस बयान ने वार्ता को लेकर अनिश्चितता को और बढ़ा दिया है.