मॉनसून केरल पहुंचा | सोमवार, 28 मई 2018

बीते सोमवार को मॉनसून ने अपने तय समय पर केरल में दस्तक दे दी. मौसम से जुड़े पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी कंपनी स्काइमेट ने यह जानकारी दी. उसके मुताबिक केरल में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की बरसात शुरू हो चुकी है. स्काइमेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जतिन सिंह ने कहा, ‘केरल में मॉनसून जैसी स्थितियां हैं और हम कह सकते हैं कि सालाना बारिश के मौसम का आगाज हो गया है’ इससे पहले स्काइमेट ने अपने पूर्वानुमान में कहा था कि मॉनसून 28 मई को केरल में प्रवेश करेगा.

उधर, भारतीय मौसम विभाग ने मॉनसून के केरल में दाखिल होने की तारीख 29 मई बताई थी. सोमवार को विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि मॉनसून के अगले 24 घंटे में केरल पहुंचने की उम्मीद है. राजधानी दिल्ली सहित भारत के एक बड़े हिस्से में इन दिनों तापमान लगातार 45 डिग्री के आसपास बना हुआ है. देश में लगातार तीसरे साल मॉनसून सामान्य रहने का अनुमान लगाया गया है.

क्यों दिल्ली सरकार की यह प्रस्तावित नीति मरीजों के लिए राहत और निजी अस्पतालों के लिए झटका है | मंगलवार, 29 मई 2018

दिल्ली सरकार ने निजी अस्पतालों द्वारा मनमाने ढंग से बिल बनाने की शिकायतों के मद्देनजर एक प्रस्तावित नीति का मसौदा जारी किया है. इस मसौदे के एक प्रावधान के मुताबिक अगर किसी मरीज की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 24 घंटे के भीतर हो जाती है तो अस्पताल को कुल बिल के तहत ली जाने वाली कुछ रकम छोड़नी होगी.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक सरकार ने बिल में प्रावधान किया है कि इमरजेंसी वॉर्ड में भर्ती होने के छह घंटे के भीतर मरीज की मौत होने पर अस्पताल को कुल बिल की 50 प्रतिशत रकम छोड़नी होगी. वहीं, 24 घंटे के भीतर होने वाली मौत पर यह आंकड़ा 20 प्रतिशत होगा. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक अक्सर शिकायतें मिलती हैं कि निजी अस्पतालों का रवैया सही नहीं है और वे बहुत ज्यादा बिल बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि नई नीति से पारदर्शिता आएगी.

आप के मंत्री के घर पर सीबीआई का छापा, अरविंद केजरीवाल बोले - नरेंद्र मोदी चाहते क्या हैं? | बुधवार, 30 मई 2018

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार और केंद्र के बीच टकराव का सिलसिला जारी है. बुधवार सुबह सीबीआई ने दिल्ली के लोक निर्माण मंत्री सत्येंद्र जैन के घर पर छापा मारा. उन पर एक योजना के लिए कंसल्टेंट्स की सेवाएं लेने की प्रक्रिया में गड़बड़ी का आरोप है. इसके बाद गुस्साए अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते क्या हैं?’

उधर, इस छापे के बाद सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर बताया कि लोक निर्माण विभाग ने अलग-अलग परियोजनाओं के लिए पेशेवर लोगों की सेवाएं ली थीं. सीबीआई छापों के दौरान सबको बाहर निकलने के लिए कहा गया.

आईएनएक्स मीडिया मामला : दिल्ली हाई कोर्ट ने पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर तीन जुलाई तक रोक लगाई | गुरूवार, 31 मई 2018

एयरसेल-मैक्सिस के बाद आईएनएक्स मीडिया मामले में भी पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को गिरफ्तारी से अंतरिम राहत मिल गई. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार गुरुवार को अग्रिम जमानत की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने तीन जुलाई तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी. इसके साथ उनकी याचिका पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से दो हफ्ते में जवाब भी मांगा है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने पी चिंदबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले की जांच में सहयोग करने और पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर पेश होने का निर्देश दिया है. इस पर पी चिदंबरम की ओर से अदालत में पेश कपिल सिब्बल और सलमान खुर्शीद ने कहा कि वे (पी चिदंबरम) जांच में सीबीआई के साथ पूरा सहयोग करेंगे. उधर, सीबीआई के पैरवीकार अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पी चिदंबरम को अंतरिम राहत दिए जाने का विरोध किया. उन्होंने कहा कि पी चिंदबरम को हाई कोर्ट के बजाए पहले ट्रायल कोर्ट जाना चाहिए. तुषार मेहता का यह भी कहना था कि सभी के लिए कानून समान है. इस पर अदालत ने कहा, ‘या तो आप यह कहें कि आप उन्हें (पी चिदंबरम) गिरफ्तार नहीं करेंगे या फिर मुझे उनको सुरक्षा देनी होगी, क्योंकि उन्हें गिरफ्तारी की आशंका है.’

कर्नाटक : कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार से जुड़े लोगों के ठिकाने पर सीबीआई के छापे | शुक्रवार, 01 जून 2018

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनवाने में अहम भूमिका निभाने वाले कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार के करीबियों के ठिकानों पर गुरुवार को सीबीआई ने छापेमारी की. इन लोगों पर बंद हो चुके 1,000-500 के नोटों के ज़रिए अवैध लेन-देन करने का आरोप है.

ख़बरों के मुताबिक सीबीआई ने बेंगलुरु, कनकपुरा और रामनगर में शिवकुमार के सहयाेगियों के ठिकानों पर छापा मारा. जिनके ख़िलाफ़ यह कार्रवाई की गई उनके नाम शिवनंद, नंनजप्पा और पद्मनाभैया बताए जाते हैं. सीबीआई का आरोप है कि कॉरपोरेशन बैंक के मुख्य प्रबंधक बी प्रकाश ने ‘अज्ञात लोगों’ (शिवकुमार के सहयोगी) के साथ मिलकर लगभग 10 लाख रुपए के पुराने नोटों को अवैध रूप से नए नोटों में बदला. यह मामला 14 नवंबर 2016 का है.

हालांकि, सीबीआई की इस कार्रवाई को शिवकुमार ने ‘बदले की राजनीति’ बताया है. शिवकुमार और उनके भाई कांग्रेस सांसद डीके सुरेश ने गुरुवार देर रात मीडिया से बातचीत में कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व मुझे और मेरे भाई को अपने साथ लाने के लिए डरा-धमका रहा है. लेकिन हम ऐसी धमकियों से डरने वाले नहीं हैं.’

असम : बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के लगभग 90 फीसदी कार्यकर्ताओं ने इस्तीफा दिया | शनिवार, 02 जून 2018

असम में बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के 90 फीसदी कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने संगठनों से इस्तीफा दे दिया है. स्थानीय वेबसाइट गुवाहाटी प्लस के मुताबिक बजरंग दल छोड़ चुके गुवाहाटी के पूर्व जिला संयोजक दीपज्योति शर्मा ने कहा, ‘गुवाहाटी में संगठन के 820 में से 816 सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है.’ उन्होंने बताया कि राज्य में बजरंग दल के 14 हजार सक्रिय सदस्यों में से 13,900 इस्तीफा दे चुके हैं. वहीं, विहिप सदस्यों के बारे में उन्होंने कहा कि गुवाहाटी में उसके 400 सक्रिय सदस्यों में से 380 इस्तीफे दे चुके हैं. इसमें विहिप के राज्य सलाहकार टीके शर्मा सहित शीर्ष नेता भी शामिल हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक बजरंग दल और विहिप में यह दरार प्रवीण तोगड़िया के अलग होने के बाद आई है. इस्तीफा देने वाले कार्यकर्ता इसके लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (समर्थित) को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. उनका कहना है कि आरएसएस के विद्रोह की वजह से प्रवीण तोगड़िया के करीबी राघव रेड्डी को विहिप के अध्यक्ष पद के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा. विहिप के पूर्व सदस्यों के मुताबिक प्रवीण तोगड़िया छह साल तक संगठन के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष और राघव रेड्डी अध्यक्ष रहे, इन्हीं की मेहनत की वजह से भाजपा को राज्य और केंद्र में सत्ता मिली है.

युद्धविराम पर सहमत होने के चार दिन बाद पाकिस्तान ने फिर गोलाबारी की, बीएसएफ के दो जवान शहीद | रविवार, 03 जून 2018

पाकिस्तान ने एक बार फिर युद्धविराम का उल्लंघन किया है. पाकिस्तान ने रविवार देर रात जम्मू के अखनूर सेक्टर में अचानक गोलाबारी शुरू कर दी जिसकी चपेट में आकर बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए. सेना के अधिकारियों के मुताबिक रात करीब दो बजे पाकिस्तान की ओर से फायरिंग शुरू हुई. पहले छोटे हथियारों से फायरिंग की गयी लेकिन, कुछ देर बाद भारी और लंबी दूरी तक मार करने वाले मोर्टार दागे जाने लगे. इससे बीएसएफ की चौकियों के साथ-साथ सीमा से लगे इलाकों में भी भारी नुकसान पहुंचा है.

अखनूर सेक्टर में सीमा से करीब 10 किमी दूर स्थित परगवाल कस्बे के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रविवार देर रात हुई गोलाबारी में परगवाल के चार लोग घायल हुए हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है. अधिकारी के मुताबिक पाकिस्तानी गोलाबारी को देखते हुए कस्बे के लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया जा रहा है. साथ ही अरनिया और आरएस पुरा के सीमाई इलाकों में रहने वाले लोगों को भी अलर्ट कर दिया गया है.