अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी फिच ने सोमवार को पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की वाइबिलिटी (आगे बढ़ने की क्षमता) रेटिंग (वीआर) ‘बी’ से घटाकर ‘बीबी ऋणात्मक’ कर दी है. पीटीआई के मुताबिक फिच ने अभी-भी पीएनबी को ‘रेटिंग वॉच लिस्ट (आरडब्लूएन)’ में रखा है. आरडब्लूएन में किसी कंपनी को रखे जाने का मतलब है कि रेटिंग एजेंसी भविष्य में इस कंपनी को और नीचे की रेटिंग दे सकती है.

फिच ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि रेटिंग में कमी पीएनबी की ऋण देने की क्षमता घटने और प्रबंधन की कमजोरियों को उजागर करती है. हालांकि इसके साथ रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पीएनबी ने इन मोर्चों पर सुधार के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं.

पिछले दिनों जब हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके सहयोगियों द्वारा पीएनबी में 13,000 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा करने का मामला सामने आया था, उस समय फिच ने बैंक की रेटिंग घटाकर बी कर दी थी. वहीं पिछले महीने बैंक ने वित्तीय वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही में 13,416 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दिखाया था. पिछले महीने ही एक अन्य क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडी ने भी पीएनबी की रेटिंग बीएए3/पी-3 से घटाकर बीए1/एनपी कर दी थी.