नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट का एक वीडियो बीते दो दिनों से सोशल मीडिया पर खासा वायरल हुआ है. इस वीडियो में वे पोंछा लेकर जमीन पर गिरी कॉफी साफ करते नजर आ रहे हैं, जो जरा देर पहले उन्होंने ही गलती से गिरा दी थी. मार्क रूट का यह वीडियो हमें अपने उन नेताओं की याद दिलाता है जो कुछ समय पहले जगह-जगह झाड़ू लेकर तस्वीरें खिंचाते दिखाई देते थे. यह और बात है कि उनके सामने कचरा या तो होता नहीं था या सरकारी इंतजाम के तहत लाए गए सूखे पत्ते और कुछ कागज के टुकड़े होते थे. यहां तक कि जिस अभियान के लिए यह सब किया गया उस पर भी अब तकरीबन झाड़ू चलती दिख रही है.

हो सकता है कुछ लोगों को हाथ में मॉप पकड़े हुए मार्क रूट की उत्साह भरी तस्वीरों को देखकर यह लगे कि ऐसा उन्होंने दिखावे और पब्लिसिटी के लिए किया है, लेकिन फिर भी उन्होंने बिना किसी तामझाम के ‘स्वच्छ नीदरलैंड’ का संदेश बहुत मजबूती से दे दिया है. यह शायद किसी भी प्रधानमंत्री का देश के नाम दिया गया सबसे बढ़िया संदेश होगा. इसके अलावा जहां दुनियाभर के नेता जमीन से लेकर माहौल तक खराब कर रहे हैं, वहां प्रधानमंत्री रूट की इस साफ-सुथरी कोशिश की तारीफ जरूर की जानी चाहिए.