उत्तर प्रदेश के बैरिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि सरकारी अधिकारियों से बेहतर तो वेश्याएं होती हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक एक जनसभा में सुरेंद्र सिंह ने कहा कि अगर नौकरशाह रिश्वत मांगें तो उन्हें पीटना चाहिए. इसके बाद उन्होंने कहा, ‘अधिकारियों से अच्छा चरित्र तो वेश्याओं का होता है. वे पैसा लेकर कम से कम अपना काम तो करती हैं और स्टेज पर नाचती हैं. लेकिन इसकी कोई गारंटी नहीं कि ये (सरकारी) अधिकारी पैसे लेकर भी आपका काम करेंगे या नहीं.’

सुरेंद्र सिंह ने सरकार के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ मंगलवार को ‘चेतावनी दिवस’ का आह्वान किया था. इस दौरान उन्होंने नारा भी दिया कि ‘घूस मांगे तो घूसा दो, नहीं माने तो जूता दो’. सुरेंद्र सिंह कई बार ऊटपटांग बयान देकर खबरों में आते रहे हैं.

सरकारी अधिकारियों की वेश्याओं से तुलना करने से पहले वे पिछले महीने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर की तुलना वेश्या से कर चुके हैं. राजभर ने सत्ताधारी भाजपा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे. उनका जवाब देते हुए सुरेंद्र सिंह ने कहा था, ‘वेश्या को पूरी दुनिया वेश्या दिखती है.’

इससे पहले गोरखपुर उपचुनाव के समय सुरेंद्र सिंह ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि 2019 का लोकसभा चुनाव इस्लाम और भगवान के बीच होगा. इसके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शूर्पणखा कहकर भी वे आलोचकों के निशाने पर आ चुके हैं.