टेक-कंपनियों के नाम रखने में अजीबो-गरीब तरह से क्रिएटिविटी का इस्तेमाल किया जाता है और यह भी इन्हें खास बनाता है. कभी तो ये नाम आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट या फेसबुक की तरह होते हैं जो अपने नाम से अपना काम बताने का इरादा रखते हैं और कभी इनके नाम गूगल, याहू, एपल रख दिए जाते हैं जिनका या तो कोई मतलब नहीं निकलता और निकलता भी है तो उनका तकनीक/उत्पाद से कोई वास्ता जुड़ता नहीं दिखता. ऐसा ही एक नाम है चाइनीज टेक कंपनी अलीबाबा का. अलीबाबा के नाम का भी इसके काम से कोई कनेक्शन नहीं जुड़ता. वैसे भी चीनी कंपनियों या ब्रांड्स का जिक्र आते ही दिमाग में हुआवेई, लेनोवो, शाओमी जैसे नाम आते हैं, जिनसे प्रोडक्ट का पता भले ही न चले इनके चीनी होने का पता जरूर चल जाता है. ऐसे में यह सोच पाना ही मुश्किल है कि किसी चीनी कंपनी का नाम हिंदी-उर्दू का कोई शब्द या कोई फिक्शनल कैरेक्टर होगा. चलिए, सिर-पैर के सवाल में इस बार जानते हैं कि एक चाइनीज टेक कंपनी का नाम अलीबाबा कैसे पड़ गया.

दरअसल अलीबाबा हिंदी में अरबी भाषा से आया शब्द है. अरबी साहित्य के जरिए भारत ही नहीं बल्कि सारी दुनिया ही अलीबाबा को जानती है और अपना मानती है. अलीबाबा असल में, ‘अलीबाबा और चालीस चोर’ शीर्षक वाली मशहूर कहानी का उससे भी मशहूर किरदार है. यह कहानी ‘एक हजार एक रातें (वन थॉउजेंट एंड वन नाइट्स)’ कहानी संकलन का हिस्सा है. अलीबाबा डॉट कॉम को भी अपना नाम यहीं से मिला है.

साल 2006 में दिए एक इंटरव्यू में अलीबाबा के संस्थापक जैक मा ने बताया था कि वे अपनी कंपनी के लिए एक ऐसा आसान सा नाम खोज रहे थे जिससे दुनिया के हर कोने के लोग कनेक्ट कर सकें. यहां पर जैक इससे जुड़े एक किस्से का जिक्र करते हैं. वे बताते हैं कि सैनफ्रांसिस्को की एक कॉफी शॉप में बैठे हुए उन्हें जब अचानक यह नाम सूझा तो उन्होंने वेट्रेस से पूछा कि अलीबाबा शब्द सुनते ही उसके दिमाग में क्या आता है. वेट्रेस का जवाब था – ओपन सेसमी (खुल जा सिम-सिम). इसके बाद यह सवाल जैक ने आसपास मौजूद करीब तीसों लोगों से पूछा और ज्यादातर लोग अलीबाबा को और उसके इस जादुई मंत्र को जानते थे. इसी लोकप्रियता के चलते उन्होंने कंपनी को यह नाम देना तय कर लेिया.

अलीबाबा नाम का टेक कंपनी से कनेक्शन बताते हुए जैक कहते हैं कि जैसे अलीबाबा एक उदार, चतुर और लोगों के लिए अच्छा करने वाला व्यापारी था, उनकी कंपनी का उद्देश्य भी यही है. वे मानते हैं कि अलीबाबा के खुल जा सिम-सिम कहकर खजाने खोलने वाली खासियत उनकी वेबसाइट में भी है. चीन में अलीबाबा को इसके चीनी उच्चारण की तरह अ-ली-बा-बा बोला जाता है, जबकि बाकी दुनिया के लिए यह कहानियों वाला अलीबाबा ही है.