अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच अगले हफ्ते होने वाली ऐतिहासिक बैठक के दौरान सिंगापुर का हवाई क्षेत्र प्रतिबंधित रखे जाने की घोषणा की गई है. द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस बारे में इं​टरनेशनल सिविल एवीएशन आॅर्गेनाइजेशन (आईसीएओ) और अमेरिका के फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) की वेबसाइटों पर एक नोटिस जारी किया गया है. इस नोटिस में कहा गया है कि 11 से 13 जून के दौरान सिंगापुर का हवाई क्षेत्र कुछ समय के लिए प्रतिबंधित रहेगा.

सिंगापुर के रक्षा मंत्रालय के साथ यहां के नागरिक विमानन प्राधिकरण ने भी इस बात की पुष्टि की है. साथ ही, उसने कहा है कि इस वजह से सिंगापुर आने-जाने वाले हवाई यात्रियों को उड़ानों में कुछ देरी का सामना करना पड़ सकता है. बताया जाता है कि यह फैसला दोनों देशों के नेताओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किया गया है.

खबरों के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग-उन के बीच 12 जून की तय बैठक सिंगापुर के पूर्वी हिस्से में स्थित सेंटोसा द्वीप में होगी. इस बैठक के लिए सिंगापुर ने भी अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं. सिंगापुर ने सेंटोसा द्वीप के कुछ हिस्से को 10 से 14 जून तक के लिए ‘विशेष अयोजन स्थल’ के रूप में घोषित कर दिया है. ऐसे में यहां सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ाए जाने के साथ इलाके में रिमोट के जरिये उड़ाए जा सकने वाले वाले जहाजों के साथ सार्वजनिक सभाओं पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है.