चीन में भारतीय राजदूत गौतम बम्बावले ने कहा है कि भारत और चीन पिछले साल के डोकलाम विवाद को भुलाकर अब आगे बढ़ चुके हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शुक्रवार को उन्होंंने कहा, ‘बीते दिनों वुहान में नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग की अनौपचारिक मुलाकात के बाद अब दोनों देशों के आपसी संबंधों में बदलाव आ रहा है. भारत व चीन डोकलाम की घटना को पीछे छोड़कर भविष्य की ओर अग्रसर हैं.’

चीन के शहर चिंगदाओ में 9-10 जून को होने वाले शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के 18वें सम्मेलन में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे. गौतम बम्बावाले के मुताबिक इस दौरान शनिवार को चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ प्रधानमंत्री मोदी की द्विपक्षीय बैठक भी होगी. इसमें दोनों नेताओं के बीच वुहान की मुलाकात के दौरान हुई बातचीत को आगे बढ़ाने पर चर्चा होने की उम्मीद है.

एससीओ सम्मेलन में पाकिस्तान के कार्यकारी प्रधानमंत्री भी हिस्सा लेंगे. लेकिन इस दौरान भारत और पाकिस्तान के प्रतिनिधियों के बीच कोई औपचारिक या अनौपचारिक बैठक नहीं होगी. गौतम बम्बावले का कहना है कि ऐसी किसी बैठक के लिए इस्लामाबाद से कोई प्रस्ताव नहीं आया है और नई दिल्ली ने भी इस बारे में कोई पहल नहीं की है.