क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने वाले हैं. अगले महीने से शुरू हो रहे श्रीलंका दौरे के लिए भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम में उनका चयन किया गया है. सोशल मीडिया में आज इस खबर की अच्छी-खासी चर्चा है और ट्विटर पर ArjunTendulkar ट्रेंडिंग लिस्ट में शामिल हुआ है. यहां अर्जुन के अंडर-19 टीम में चयन पर भाई-भतीजावाद बनाम प्रतिभा को लेकर एक बहस भी छिड़ी हुई है. नंदिता घोषाल ने ट्वीट किया है, ‘बॉलीवुड के बाद अब भाई-भतीजावाद खेलों में भी आ गया है.’ रवि कांत‏ ने लिखा है, ‘किसी को भी अपने परिवार के नाम का न तो फायदा मिलना चाहिए और न ही इस आधार पर उसके साथ भेदभाव होना चाहिए. यह प्रतिभा विरोधी है... अर्जुन तेंदुलकर का मामला साफ-साफ भाई-भतीजावाद है और यह पहली बार नहीं हुआ है.’

हालांकि यहां एक बड़े तबके ने अर्जुन तेंदुलकर के मामले में भाई-भतीजावाद के आरोप को खारिज किया है. प्रशांत परीक का ट्वीट है, ‘उनके चयन को लेकर इतनी नकारात्मकता क्यों है? अगर वो उस जगह के लायक नहीं है तो दूसरे प्रसिद्ध खिलाड़ियों (खिलाड़ियों के बेटों) की तरह उन्हें भी टीम से बाहर कर दिया जाएगा.’

अर्जुन तेंदुलकर के भारत की अंडर-19 टीम में चयन को लेकर सोशल मीडिया पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

हर्ष भोगले | @bhogleharsha

वह ‘सचिन का बेटा’ नहीं है जिसका भारत की अंडर-19 टीम में चयन हुआ है. वह अर्जुन तेंदुलकर है, जिसकी अपनी काबिलियत है और हमें इसका सम्मान करना चाहिए.

नीरज प्रियदर्शी | @neerajexpress

अर्जुन तेंदुलकर को बधाई (फोटो साभार : इंडियन एक्सप्रेस)

सेल्फिश कृति | @AsIiKruti

मैं उम्मीद करती हूं कि अर्जुन तेंदुलकर अभिषेक बच्चन साबित न हों.

विशेष अरोड़ा | @vishesharora19

लोग अर्जुन तेंदुलकर के अंडर-19 में चयन पर हल्ला मचा रहे हैं... छोड़ो यार, उनके पास ‘गॉड’ ‘फादर’ हैं.

देवैया बोपन्ना | Bopanna‏ @devaiahPB 1d1 day ago

अर्जुन : पापा, मैंने कर दिखाया. मेरा भारत की अंडर-19 टीम में सेलेक्शन हो गया है.
सचिन : ह्म्म... मैं जब अंडर 19 था, तभी भारतीय टीम में शामिल हो चुका था.