कनाडा में हुए दो दिवसीय जी-7 शिखर सम्मेलन के बाद अमेरिका और कनाडा के रिश्ते खराब होते नजर आ रहे हैं. अमेरिका द्वारा कनाडा के एल्युमीनियम और इस्पात पर शुल्क लगाए जाने के मसले पर दोनों देशों के राष्ट्र प्रमुखों ने एक दूसरे खरी-खरी सुनाई है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को ‘बेईमान और कमजोर’ तक कह दिया है.

खबरों के मुताबिक शनिवार को जी-7 की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए जस्टिन ट्रूडो ने कहा, ‘एक जुलाई को हम अमेरिका द्वारा कनाडा के एल्युमीनियम और इस्पात पर शुल्क लगाए जाने के जवाब में उसके आयात पर शुल्क लगाने की घोषणा करेंगे...कनाडाई सभ्य और ज़िम्मेदार होते हैं, लेकिन आप उन्हें चौतरफा परेशान नहीं कर सकते.’

ट्रुडो के इस बयान से बौखलाए अमेरिकी राष्ट्रपति ने शनिवार रात को ट्वीट कर कहा, ‘पीएम जस्टिन ट्रूडो ने जी-7 सम्मेलन के दौरान बहुत ही हल्का व्यवहार किया और कहा कि अमेरिका ने जो टैरिफ (शुल्क) लगाए हैं वो अपमानजनक हैं. बहुत बेईमान और कमजोर. हमारा शुल्क उनके द्वारा हमारे डेयरी उत्पादों पर लगाए गए 270 फीसदी शुल्क के बदले है.’

ट्रंप ने कनाडाई प्रधानमंत्री पर झूठा बयान देने का आरोप लगाते हुए यह भी कहा, ‘सच तो ये है कि कनाडा अमेरिकी किसानों, मजदूरों और कंपनियों पर भारी टैरिफ लगा रहा है.’ जस्टिन ट्रूडो से बेहद नाराज ट्रंप ने कनाडाई ऑटोमोबाइल पर भी आयात शुल्क लगाने की चेतावनी देते हुए अमेरिका के जी-7 की साझा वार्ता से हटने की भी घोषणा कर दी.