उत्तर प्रदेश के भाजपा विधायक संगीत सोम पर रिश्वतखोरी का आरोप लगा है. मेरठ के एक ठेकेदार ने संगीत सोम पर सरकारी ठेका दिलाने के बदले 43 लाख रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगाया है.

ठेकेदार संजय प्रधान ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि वह पीडब्ल्यूडी और अन्य विभाग में ठेकेदारी का काम करते हैं. पिछले दिनों संगीत सोम ने मेरठ के दादरी में एक सरकारी कॉलेज बनाने का ठेका दिलाने के बदले उनसे 43 लाख रुपए की मांग की थी. संजय के मुताबिक उन्होंने विधायक को यह रकम तीन किश्तों में पहुंचा दी थी लेकिन, इसके बाद भी उन्हें ठेके नहीं दिए गए. संजय का आरोप है कि इसके बाद जब उन्होंने विधायक से अपनी रकम वापस मांगी तो उनके गुर्गों ने उन्हें धमकाना शुरू कर दिया.

एएनआई के मुताबिक शनिवार रात को संजय प्रधान ने मेरठ के एसएसपी राजेश पाण्डेय से इसकी लिखित शिकायत की जिसके बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है. मेरठ पुलिस के मुताबिक इस मामले की गंभीरता को देखते हुए इसकी जांच खुद एसएसपी राजेश पाण्डेय कर रहे हैं.

भाजपा के फायर ब्रांड नेता संगीत सोम मेरठ की सरधना सीट से विधायक हैं. उन पर इससे पहले भी इस तरह के कई आरोप लग चुके हैं. बीते मार्च में ही सोम पर उनके ईंट-भठ्ठा कारोबार के साझेदार ने 50 लाख रुपए हड़पने का आरोप लगाया था.