दक्षिण एशिया में प्रभाव बढ़ाने की भारत की कोशिश को मालदीव ने एक और झटका दिया है | सोमवार, 04 जून 2018

भारत दक्षिण एशिया में अपना प्रभाव बढ़ाना चाहता है. लेकिन इस क्षेत्र के एक अहम देश मालदीव से भारत को अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है बल्कि विपरीत प्रतिक्रिया ही हाथ लग रही है. इस सिलसिले में अभी ख़बर आई है कि मालदीव सरकार भारत को वह नौसैनिक हेलीकॉप्टर वापस लौटा रही है जो उसे उपहार में मिले थे.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक मालदीव की अब्दुल्ला यमीन सरकार ने भारत को पत्र लिखकर कहा है कि वह लामू प्रायद्वीप में तैनात अपना हेलीकॉप्टर (एएलएच ध्रुव) वापस बुला ले. इस हेलीकॉप्टर से संबंधित लैटर ऑफ एक्सचेंज (एलओई- विनिमय पत्र) की अवधि पिछले महीने ख़त्म हो चुकी है. यमीन सरकार ने इस अवधि को बढ़ाने से तो इंकार किया ही है साथ ही इसे हटाने की प्रक्रिया पूरी करने के लिए जून के अंत तक की समय सीमा भी तय कर दी है.

पाकिस्तान को झटका, विश्व बैंक ने उसे किशनगंगा परियोजना पर भारत की बात मानने को कहा | मंगलवार, 05 जून 2018

मंगलवार को विश्‍व बैंक ने पाकिस्‍तान को झटका देते हुए उसे किशनगंगा बांध परियोजना पर भारत का प्रस्‍ताव मानने को कहा. भारत ने इस परियोजना के आकलन के लिए किसी तटस्‍थ विशेषज्ञ की नियुक्ति का प्रस्ताव दिया था. विश्व बैंक ने इससे सहमति जताई है.

पाकिस्‍तान इस मामले को अंतराष्‍ट्रीय मध्‍यस्‍थता अदालत में ले जाना चाहता था. वह झेलम की सहायक नदी किशनगंगा पर बांध बनाने का विरोध कर रहा है. उसका कहना है कि ये दोनों देशों के बीच हुए 1960 में हुए सिंधु जल समझौते का उल्लंघन है. उधर, भारत उसके इस आरोप को खारिज करता रहा है. उसकी दलील है कि वह इस परियोजना को समझौते के नियमों का पालन करते हुए ही बना रहा है. भारत के मुताबिक न तो वह इस परियोजना के लिए पानी का प्रवाह रोक रहा है और न ही उसे कहीं और ले जा रहा है. हाल ही में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किशनगंगा परियोजना का उद्घाटन किया था तो पाकिस्‍तान ने इस पर भी आपत्‍त‍ि जताई थी. तब भी विश्व बैंक उसकी यह आपत्ति खारिज करते हुए मामले में दखल देने से इनकार कर दिया था.

मेसी को धमकी के बाद यरुशलम में होने वाला इजराइल और अर्जेंटीना का अभ्यास मैच रद्द | बुधवार, 06 जून 2018

मध्य पूर्व की राजनीति खेल पर भी असर डाल रही है. विश्व कप से पहले अर्जेंटीना और इजराइल के बीच होना वाला अभ्यास मैच फिलीस्तीनी संगठनों की धमकी के कारण रद्द कर दिया गया है. मैच यरुशलम में होना था जिस पर इजराइल और फिलीस्तीन दोनों ही अपना हक जताते हैं. इस मैच को लेकर अरब संगठनों ने धमकी दी थी कि अगर अर्जेंटीना यह मैच खेलता है तो लियोनल मेसी के पोस्टर जलाए जाएंगे.

बुधवार को अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस अायर्स में स्थित इजराइल के दूतावास ने 09 जून को होने वाले इस मैच के रद्द होने की घोषणा की. दूतावास के अधिकारियों ने मैच रद्द होने पर खेद जताते हुए कहा, ‘दुनिया के प्रसिद्ध फुटबॉलर मेसी को कई तरह की धमकी दी गईं. मैदान पर कुछ असहज न हो इसलिए हमने मैच रद्द करने का फैसला किया.’ इजराय़ल के रक्षा मंत्री ने भी कहा, ‘मैच रद्द होना अफसोसनाक है. यह घृणा और तनाव के माहौल को बढ़ाने वाला है.’

डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन की बैठक के दौरान सिंगापुर का हवाई क्षेत्र प्रतिबंधित रहेगा | गुरूवार, 07 जून 2018

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच अगले हफ्ते होने वाली ऐतिहासिक बैठक के दौरान सिंगापुर का हवाई क्षेत्र प्रतिबंधित रखे जाने की घोषणा की गई है. द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस बारे में इं​टरनेशनल सिविल एवीएशन आॅर्गेनाइजेशन (आईसीएओ) और अमेरिका के फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफएए) की वेबसाइटों पर एक नोटिस जारी किया गया है. इस नोटिस में कहा गया है कि 11 से 13 जून के दौरान सिंगापुर का हवाई क्षेत्र कुछ समय के लिए प्रतिबंधित रहेगा.

सिंगापुर के रक्षा मंत्रालय के साथ यहां के नागरिक विमानन प्राधिकरण ने भी इस बात की पुष्टि की है. साथ ही, उसने कहा है कि इस वजह से सिंगापुर आने-जाने वाले हवाई यात्रियों को उड़ानों में कुछ देरी का सामना करना पड़ सकता है. बताया जाता है कि यह फैसला दोनों देशों के नेताओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किया गया है.

ऑस्ट्रिया सात मस्जिदों को बंद कर दर्जनों इमामों को बाहर निकालेगा | शुक्रवार, 08 जून 2018

शुक्रवार को ऑस्ट्रिया ने राजनीतिक इस्लाम और विदेशी चंदों से चलने वाले धार्मिक समूहों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही. समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार शुक्रवार को गृह मंत्री हरबर्ट केकल ने कहा कि इस कार्रवाई से लगभग 60 इमामों और उनके परिवारों पर असर पड़ेगा. उन्होंने आगे कहा कि इससे कुल 150 लोगों का देश में रहने का अधिकार खतरे में पड़ जाएगा. इनमें ज्यादातर इमाम तुर्की-इस्लामिक सांस्कृतिक संघों या एटीआईबी से जुड़े हैं, जो तुर्की सरकार की धार्मिक मामलों की संस्था की शाखा है.

ऑस्ट्रिया सरकार वियना की रुढ़िवादी तुर्की मस्जिद के अलावा छह अन्य मस्जिदों को भी बंद कर देगी. रिपोर्ट के मुताबिक धार्मिक मामलों के अधिकारियों द्वारा एक तुर्की समर्थित मस्जिद की अप्रैल में सामने आई तस्वीरों की जांच पूरी होने के बाद यह कदम उठाया जाएगा. इन तस्वीरों में बच्चे प्रथम विश्व युद्ध की गैलीपोली लड़ाई का मंचन करते दिखाई दे रहे थे. हालांकि, एटीआईबी ने खुद इन तस्वीरों की निंदा की थी और इन्हें खेदजनक बताया था. इस बीच ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज ने भी इस मामले में किसी तरह की नरमी से इनकार कर दिया है.

फ्रेंच ओपन : रोमानिया की सिमोना हालेप ने महिला सिंगल्स का खिताब जीता | शनिवार, 09 जून 2018

दुनिया की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी सिमोना हालेप ने अमेरिका की स्लोएन स्टीफेंस को हराकर महिलाओं का फ्रेंच ओपन खिताब अपने नाम कर लिया. पहले सेट में पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करने वाली सिमोना हालेप ने पेरिस में शनिवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में अपनी प्रतिद्वंद्वी को ​करारी शिकस्त दे दी. उन्होंने यह मुकाबला 3-6, 6-4 और 6-1 से जीता. रोमानिया की सिमोना हालेप का यह पहला ग्रैंड स्लैम खिताब है.

लाल बजरी पर खेले जाने वाले फ्रेंच ओपेन के इस फाइनल मुकाबले के शुरू में विश्व में 10वीं रैंक की ​स्लोएन स्टीफेंस ने अपना दबदबा बनाया हुआ था. लेकिन बाद में वे अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार न रख सकीं. उधर अब तक तीन ग्रैंड स्लैम फाइनल हार चुकीं सिमोना ने दूसरे सेट में स्लोएन के थोड़ा सुस्त होते ही अपनी आक्रामकता और बढ़ाकर यह मुकाबला जीत लिया.

अमेरिका और कनाडा में तनातनी बढ़ी, ट्रंप ने ट्रुडो को ‘बेईमान’ बताया | शनिवार, 10 जून 2018

कनाडा में हुए दो दिवसीय जी-7 शिखर सम्मेलन के बाद अमेरिका और कनाडा के रिश्ते खराब होते नजर आ रहे हैं. अमेरिका द्वारा कनाडा के एल्युमीनियम और इस्पात पर शुल्क लगाए जाने के मसले पर दोनों देशों के राष्ट्र प्रमुखों ने एक दूसरे खरी-खरी सुनाई है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को ‘बेईमान और कमजोर’ तक कह दिया है.

खबरों के मुताबिक शनिवार को जी-7 की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए जस्टिन ट्रूडो ने कहा, ‘एक जुलाई को हम अमेरिका द्वारा कनाडा के एल्युमीनियम और इस्पात पर शुल्क लगाए जाने के जवाब में उसके आयात पर शुल्क लगाने की घोषणा करेंगे...कनाडाई सभ्य और ज़िम्मेदार होते हैं, लेकिन आप उन्हें चौतरफा परेशान नहीं कर सकते.’

ट्रुडो के इस बयान से बौखलाए अमेरिकी राष्ट्रपति ने शनिवार रात को ट्वीट कर कहा, ‘पीएम जस्टिन ट्रूडो ने जी-7 सम्मेलन के दौरान बहुत ही हल्का व्यवहार किया और कहा कि अमेरिका ने जो टैरिफ (शुल्क) लगाए हैं वो अपमानजनक हैं. बहुत बेईमान और कमजोर. हमारा शुल्क उनके द्वारा हमारे डेयरी उत्पादों पर लगाए गए 270 फीसदी शुल्क के बदले है.’