अगले आम चुनाव के दौरान ​बिहार में एनडीए का चेहरा नीतीश कुमार हों : जेडीयू | सोमवार, 04 जून 2018

हाल में हुए उपचुनाव के नतीजों के बाद बिहार में भी राजनीतिक समीकरण बदलते दिख रहे हैं. खबरों के मुताबिक जनता दल युनाइटेड (जदयू) के अध्यक्ष व प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के घर रविवार को पार्टी की कोर समिति की एक बैठक हुई. इस बैठक में तय किया गया ​कि 2019 में होने वाले आम चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की तरफ से बिहार में नीतीश कुमार को प्रमुख चेहरा बनाया जाय और राज्य में उन्हीं के नाम पर चुनाव लड़ा जाए.

खबरों के मुताबिक जदयू के राष्ट्रीय महासचिव पवन वर्मा के अलावा केसी त्यागी इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए विशेष तौर पर दिल्ली से बिहार पहुंचे थे. पार्टी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के अलावा कई दूसरे बड़े नेताओं ने भी इसमें हिस्सा लिया था. बैठक के बाद केसी त्यागी ने कहा, ‘यह फैसला प्रदेश में नीतीश कुमार सरकार के सुशासन और उनकी लोकप्रियता के मद्देनजर किया गया है.’

गोवा के आर्चबिशप ने चर्चों को चिट्ठी लिखकर कहा - भारत का संविधान खतरे में है | मंगलवार, 05 जून 2018

गोवा और दमन के आर्चबिशप फादर फिलिप नेरी फेराओ ने चर्चों के साथ ईसाइयों से भी राजनीतिक सक्रियता बढ़ाने की अपील की है. इसके लिए उन्होंने बाकायदा एक पत्र भी लिखा है. खबरों के मुताबिक इलाके के तमाम चर्चों को भेजे गए इस पत्र में फिलिप नेरी फेराओ ने लिखा है, ‘आज भारत का संविधान खतरे में है. इसकी वजह से अधिकांश लोग खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. ऐसे में अगले आम चुनाव में ईसाई समुदाय को इसकी रक्षा के लिए प्रयास करना होगा.’

फेराओ आगे लिखते हैं, ‘आज मानवाधिकारों का हनन हो रहा है. खान-पान और रहन-सहन के तौर तरीकों में एकरूपता लागू कराने की कोशिश की जा रही है. यह धार्मिक आजादी छीनने और एक जैसी संस्कृति व परंपरा थोपे जाने की कोशिश करने जैसा है.’ बताया गया है कि उन्होंने यह पत्र पादरी नववर्ष (पेस्टोरल ईयर) शुरू होने के मौके पर भेजा है. पादरी वर्ष की शुरुआत एक जून से होती है.

सुनंदा पुष्कर मौत मामला : कोर्ट ने कांग्रेस नेता शशि थरूर को एक आरोपित के रूप में समन भेजा | बुधवार, 06 जून 2018

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने कांग्रेस नेता शशि थरूर को उनकी पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदिग्ध मौत के मामले में सात जुलाई को अदालत में हाजिर होने का समन भेजा है. द टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार अदालत ने दिल्ली पुलिस की चार्जशीट पर संज्ञान लेते हुए उन्हें यह समन भेजा है, जिसमें उन्हें सुनंदा पुष्कर को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोपित बनाया गया है. पुलिस ने लगभग चार साल बाद बीते महीने यह चार्जशीट पेश की थी.

रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने 3,000 पेज की चार्जशीट में शशि थरूर पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा-306 (खुदकुशी के लिए उकसाने) और धारा-498ए (पत्नी के साथ क्रूरता) जैसी धाराओं के तहत आरोप लगाए थे. सुनंदा पुष्कर जनवरी 2014 में दिल्ली के मशहूर होटल लीला के सुइट संख्या 345 में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाई गई थीं. शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर ने 22 अगस्त, 2010 को शादी की थी. दिल्ली पुलिस ने 2015 में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था लेकिन उसने अपनी चार्जशीट में इसे खुदकुशी का मामला माना है.

लोक सभा और विधानसभा चुनाव साथ कराने के लिए उत्तर प्रदेश ने अपनी सहमति दे दी है | गुरूवार, 07 जून 2018

लाेक सभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने के मामले में उत्तर प्रदेश ने अपनी सहमति दे दी है. ख़बरों के मुताबिक प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य विधानसभा के चुनाव लोक सभा के साथ कराने पर विचार के लिए समिति बनाई थी. इस समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है जिसमें इस विचार के समर्थन में सुझाव दिए गए हैं.

खबरों के मुताबिक योगी सरकार इस रिपोर्ट को अब केंद्र के पास भेज रही है. सात सदस्यीय समिति द्वारा तैयार इस रिपोर्ट में सुझाव दिया गया है कि जिन राज्यों की विधानसभाओं का कार्यकाल 31 दिसंबर 2021 तक ख़त्म हो रहा है उनके चुनाव 2019 के लोक सभा चुनाव के साथ कराए जा सकते हैं. वहीं जिन विधानसभाओं के कार्यकाल 2021 के बाद ख़त्म हो रहे हैं उन्हें आगे बढ़ाकर वहां 2024 के लोक सभा चुनाव के साथ चुनाव कराए जा सकते हैं.

अमित शाह से मुलाकात के बाद भी शिवसेना अकेले चुनाव लड़ने के रुख पर कायम है : संजय राउत | शुक्रवार, 08 जून 2018

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह की उद्धव ठाकरे से हुई मुलाकात के बाद भी शिव सेना अगला आम चुनाव अकेले लड़ने के रुख पर कायम है. खबरों के मुताबिक पार्टी नेता संजय राउत ने यह बात कही है. उन्होंने कहा, ‘अकेले चुनाव लड़ने का फैसला खुद शिवसेना प्रमुख ने किया था. किसी दूसरी पार्टी के अध्यक्ष के कहने पर इसे नहीं बदला जा सकता. इस बारे में शिवसेना या फिर पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ही कोई निर्णय कर सकते हैं.’

इस दौरान संजय राउत ने उन अनुमानों को भी खारिज किया है जिनमें शिवसेना और भाजपा के एक साथ मिलकर 2019 का आम चुनाव लड़ने की बात कही जा रही है. राउत ने याद दिलाया कि अकेले चुनाव लड़ने का फैसला इस साल जनवरी में पार्टी कार्यकारिणी की बैठक में हुआ था. जब उनसे पूछा गया कि अमित शाह और उद्धव ठाकरे की मुलाकात में क्या बात हुई तो उन्होंने जवाब दिया कि यह मुलाकात बंद कमरे में हुई थी और इसमें क्या चर्चा हुई, इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है.

पश्चिम बंगाल : तृणमूल कांग्रेस के दो कार्यकर्ताओं की हत्या | शनिवार, 09 जून 2018

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या की घटनाएं जारी हैं. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक बीते दो दिनों में राज्य के अलग-अलग जिलों में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के दो कार्यकर्ताओं की चाकू मारकर हत्या की जा चुकी है. शुक्रवार को कार्तिक ढाकी का शव हावड़ा जिले के जगतबलावपुर में मिला, जिस पर चाकू से हमला किए जाने के निशान थे. वहीं, गुरुवार को माल्दा जिले के हरिश्चंद्रपुर इलाके में अलाउद्दीन शेख को चाकू मार दिया गया, जिनकी अगले दिन अस्पताल में मौत हो गई. टीएमसी ने दोनों व्यक्तियों को अपनी पार्टी से जुड़ा बताया है.

टीएमसी ने अपने कार्यकर्ताओं की हत्या के लिए भाजपा सहित अन्य विपक्षी दलों पर आरोप लगाया है. रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘पंचायत चुनाव शुरू होने के बाद से हमारे कार्यकर्ताओं को मारा जा रहा है.’ लेकिन भाजपा के राज्य सचिव सायंतन बसु का कहना है कि इन कार्यकर्ताओं की मौत टीएमसी आंतरिक कलह की वजह से हुई है. कांग्रेस ने भी टीएमसी की अंदरूनी लड़ाई को कार्यकर्ताओं की हत्या की वजह बताया है.

भाजपा विधायक संगीत सोम पर घूस लेने का आरोप, मामला दर्ज | शनिवार, 10 जून 2018

उत्तर प्रदेश के भाजपा विधायक संगीत सोम पर रिश्वतखोरी का आरोप लगा है. मेरठ के एक ठेकेदार ने संगीत सोम पर सरकारी ठेका दिलाने के बदले 43 लाख रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगाया है.

ठेकेदार संजय प्रधान ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि वह पीडब्ल्यूडी और अन्य विभाग में ठेकेदारी का काम करते हैं. पिछले दिनों संगीत सोम ने मेरठ के दादरी में एक सरकारी कॉलेज बनाने का ठेका दिलाने के बदले उनसे 43 लाख रुपए की मांग की थी. संजय के मुताबिक उन्होंने विधायक को यह रकम तीन किश्तों में पहुंचा दी थी लेकिन, इसके बाद भी उन्हें ठेके नहीं दिए गए. संजय का आरोप है कि इसके बाद जब उन्होंने विधायक से अपनी रकम वापस मांगी तो उनके गुर्गों ने उन्हें धमकाना शुरू कर दिया.