उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ उनका गठबंध 2019 के आम चुनाव में भी जारी रहेगा. द टाइम्स आॅफ इंडिया के मुताबिक रविवार को मैनपुरी जिले में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता से हटाने के लिए सपा-बसपा का गठजोड़ 2019 के आम चुनाव में भी जारी रहेगा. इस गठबंधन को जारी रखने के लिए अगर सपा को दो-चार सीटों का त्याग भी करना पड़ा तो हमें इसमें कोई हिचक नहीं महसूस होगी.’

बताया जाता है कि बीते महीने बसपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा था, ‘बसपा को सम्मानजनक सीटें दी जाती हैं तो उन्हें अगला आम चुनाव सहयोगी दलों के साथ मिलकर लड़ने में कोई हर्ज नहीं है.’ उनके इस बयान पर सपा और बसपा के कार्यकर्ताओं में भ्रम की स्थिति बन गई थी. भाजपा ने दलितों के बीच इस संदेश को पहुंचाकर पार्टी के पक्ष में वोट करने की अपील भी की थी.

अखिलेश यादव ने अपने ताजा बयान से स्थिति साफ करने की कोशिश की है. उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, ‘उपचुनाव के दौरान योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर और फूलपुर सीटों पर जमकर प्रचार किया लेकिन, एकजुट विपक्ष के आगे भाजपा को हार का सामना करना पड़ा.’ सपा अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘हाल में हुए उपचुनाव में तो हम प्रचार के लिए कैराना भी नहीं गए, बावजूद इसके कैराना की लोकसभा और नूरपुर की विधानसभा सीट को बचा पाने में भाजपा नाकामयाब रही.’