हरियाणा से भाजपा के राज्य सभा सांसद और रिटायर लेफ्टिनेंट जनरल डॉ डीपी वत्स ने जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी करने में शामिल लोगों को गोली मार देने की सलाह दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार उन्होंने कहा, ‘मैंने पत्थरबाजों के खिलाफ मामलों को वापस लेने की खबर पढ़ी है लेकिन मैं सोचता हूं कि पत्थरबाजी करने वालों को गोली मार दी जानी चाहिए.’

बीते हफ्ते जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने श्रीनगर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पत्थरबाजी की घटनाओं में शामिल बच्चों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था, ‘बच्चों को आसानी से बरगलाया जा सकता है, हम सच्चाई जानते हैं इसलिए उनके खिलाफ पत्थरबाजी के मामलों को वापस ले रहे हैं.’

रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर सरकार ने इस साल फरवरी में 2008 से 2017 के बीच पहली बार पत्थरबाजी की घटनाओं में शामिल रहे लोगों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने को मंजूरी दी थी. राज्य के गृहमंत्री की तरफ से दिए गए जवाब में कृषि मंत्री गुलाम नबी लोन हंजूरा ने बताया था कि इनमें शोपियां के 530 लोगों के खिलाफ दर्ज 61 एफआईआर भी शामिल हैं. उन्होंने यह भी जानकारी दी थी कि कश्मीर घाटी में बीते तीन साल में 14,203 पत्थरबाजों के खिलाफ कुल 4,066 मामले दर्ज हुए हैं.