पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया है. खबरों के मुताबिक डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें सामान्य चेकअप के लिए अस्पताल लाया गया है. फिलहाल उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक वाजपेयी एम्स के मौजूदा निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया की देखरेख में रहेंगे. डॉ गुलेरिया फेफड़ों के विशेषज्ञ हैं. वे पिछले तीन दशकों से वाजपेयी के निजी चिकित्सक भी हैं.

बाजपेयी डिमेंशिया से पीड़ित हैं

अटल बिहारी वाजपेयी लंबे समय से डिमेंशिया (स्मृतिदोष) की बीमारी से जूझ रहे हैं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इस बीमारी की वजह से उनका बोलना न के बराबर हो गया है.

अटल बिहारी वाजपेयी 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में लखनऊ से लोक सभा सदस्य चुने गए थे. वे अभी तक एकमात्र गैर-कांग्रेसी नेता हैं जो बतौर प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूरा करने में कामयाब रहे. वाजपेयी भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं. वर्ष 2015 में उन्हें भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.