हरियाणा की एक आईएएस अधिकारी ने राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील गुलाटी समेत कई वरिष्ठ अधिकारियों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. रविवार को महिला अधिकारी ने फेसबुक के जरिये अपने साथ कथित रूप से हुईं घटनाओं की जानकारी दी थी. अधिकारी ने यह भी बताया कि इस संबंध में उन्होंने एक मेल राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को भी भेजा है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक अब महिला अधिकारी को डर है कि उनकी हत्या की जा सकती है.

खबर के मुताबिक महिला अधिकारी ने कहा, ‘सुनील गुलाटी ने मेरा यौन शोषण किया और धमकी दी. अंबाला, कोसली और डबवाली में पोस्टिंग के दौरान भी मेरे साथ ऐसी घटनाएं हुई थीं. मैंने अधिकारियों से इसकी शिकायत की है. मुझे लगता है मेरी जिंदगी खतरे में है.’ महिला अधिकारी ने यह भी बताया कि सुनील गुलाटी ने आज उन्हें मीटिंग के लिए बुलाया था. उन्होंने कहा, ‘(मीटिंग में) मुझे उनके साथ अकेले शामिल होना था. बाद में उन्होंने मुझे चंडीगढ़ लौटने को कह दिया. उन अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई जिन्होंने पहले भी मुझे परेशान किया है.’

उधर, सुनील गुलाटी ने महिला अधिकारी के आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि वे उन पर लगे आरोपों की जांच के लिए तैयार हैं. गुलाटी ने कहा कि वे लाई-डिटेक्शन टेस्ट तक कराने को राजी हैं. एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘स्टाफ के लोगों को प्रशिक्षण देना मेरा काम है. यह उन (महिला अधिकारी) पर है कि वे सीखना चाहती हैं या नहीं. अगर जमीन पर काम करने में उन्हें दिक्कत है तो सरकार उनका ट्रांसफर कर सकती है. मैं जांच क्या लाई-डिटेक्शन टेस्ट के लिए भी तैयार हूं.’