भारतीय फुटबॉल टीम ने रविवार को मुंबई में खेले गए इंटरकॉन्टिनेंटल कप के खिताबी मुकाबले में केन्या को 2-0 से मात दे दी. भारत के इस खिताबी जीत में सबसे अहम भूमिका भारतीय टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने निभाई. इस मैच में भारत की ओर से किए गए दोनों गोल उन्होंने ही किए. इस पूरे टूर्नामेंट में भी वे छाए रहे और सर्वाधिक 8 गोल किए.

इंटरकॉन्टिनेंटल कप में इस भारतीय खिलाड़ी ने एक असाधारण रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. फाइनल मुकाबले में दो गोल कर उन्होंने अर्जेंटीना के दिग्गज खिलाड़ी लियोनेल मेसी के कुल 64 गोलों की बराबरी कर ली. 102 मैच खेलने वाले छेत्री सर्वाधिक गोलों के मामले में लियोनेल मेसी के साथ संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं. वर्तमान खिलाड़ियों की इस सूची में पहले स्थान पर पुर्तगाल के स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं जिन्होंने अभी तक 150 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 81 गोल ठोके हैं.

हालांकि, भारतीय कप्तान ने औसत गोलों के मामले में फुटबॉल के इन दोनों दिग्गज खिलाडियों को पीछे छोड़ दिया है. जहां छेत्री ने हर मैच में औसतन 0.63 गोल किये हैं, वहीं रोनाल्डो ने 0.54 और मेसी ने प्रति मैच 0.52 गोल दागे हैं.

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल जगत में इस समय के सबसे चर्चित भारतीय खिलाड़ी सुनील छेत्री हाल ही में तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने एक भावुक वीडियो जारी किया था. इसमें उन्होंने भारत की जनता से स्टेडियम में आकर उनकी टीम की हौसला-आफजाई करने की अपील की थी. इस अपील के बाद उन्हें भारतीय दर्शकों का भरपूर सहयोग मिला था.