अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हुए एक आत्मघाती हमले में 12 लोगों की मौत हो गई और 31 घायल हो गए. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक हमला काबुल के दारुलमन इलाके में स्थित ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के सामने हुआ. बताया जा रहा है कि धमाका उस समय हुआ जब लोग अपने-अपने दफ्तरों से बाहर आ रहे थे. अफगानिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री वहीद मजरूह ने 12 लोगों के मारे जाने और 31 के घायल होने की पुष्टि की है. मरने वालों में महिलाएं भी शामिल हैं. फिलहाल किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

बीते गुरुवार को अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान के साथ संघर्षविराम का ऐलान किया था. ऐसा ईद के मद्देनजर किया गया था. इसके मुताबिक 12 जून से 19 जून के बीच इस संघर्षविराम का पालन किया जाएगा. साल 2001 में अफगानिस्तान की जमीन पर अमेरिकी सेनाओं के आने के बाद से यह पहला मौका था जब तालिबान ने संघर्षविराम को लेकर सहमति जताई थी. कल से इसकी एक हफ्ते की मियाद शुरू होनी थी. लेकिन एक दिन पहले ही काबुल में धमाका हो गया. माना जा रहा है कि यह घटना इस प्रस्ताव पर पानी फेर सकती है क्योंकि सुरक्षाबलों और तालिबान ने कह रखा है कि अगर युद्धविराम के दौरान हमला हुआ तो वे उसका जवाब जरूर देंगे.