‘धड़क’ मराठी की बेहद सराही गई और राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित फिल्म ‘सैराट’ का हिंदी रीमेक है. इसके ट्रेलर लॉन्च के दौरान फिल्म के मुख्य कलाकारों जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर से पूछा गया था कि उन्होंने ‘सैराट’ पहली बार कब और किसके साथ देखी थी. इस सवाल के जवाब में जान्हवी कपूर का कहना था कि उन्होंने यह फिल्म अपनी मां - श्रीदेवी के साथ देखी थी और इसके बाद उनसे कहा था कि वे किसी ऐसी फिल्म में जरूर काम करना चाहेंगी. इस किस्से को सुनने के बाद यह संयोग से कुछ ज्यादा लगता है कि जैसी फिल्म में वे काम करना चाहती थीं, एक तरह से वही फिल्म उनकी बॉलीवुड में एंट्री करवा रही है.

ऑनर किलिंग के आस-पास रची गई प्रेमकथा ‘सैराट’ गैर-मराठीभाषी दर्शकों में भी खासी पॉपुलर रही थी. ‘धड़क’ का ट्रेलर देखकर पता चलता है कि इस बार इस मासूम प्रेम कहानी को महाराष्ट्र से उठाकर राजस्थान के बैकग्राउंड में रखा गया है. राजस्थान के रंग और लोकेशन्स फिल्म को परीकथा वाला लुक दे रहे हैं जिसे देखकर यह आशंका होती है कि कहीं फिल्म जमीनी-पन खोकर अपना वजन कम न कर बैठे. ‘सैराट’ जहां शाम ढले अंधेरे वाले मिजाज में इन प्रेमियों को मिलते हुए दिखाती है, वहीं ‘धड़क’ को देखकर लगता है जैसे प्रेमीजन रात गए किसी क्लब की जगमग लाइटों में मिल रहे हैं. हालांकि एक बहुत अच्छी और सेंसिटिव कहानी को नए मिजाज में देखना भी शायद कोई बुरा अनुभव न हो, लेकिन यह फिल्म दर्शकों को सैराट वाली संतुष्टि नहीं दे पाएगी, ये तय है.

Play

धड़क से दो ‘सितारे’ बॉलीवुड में बतौर एक्टर डेब्यू करने जा रहे हैं. यहां इन्हें सितारे इसलिए कहा गया है कि फिल्म रिलीज होने के पहले ही ये दोनों मीडिया और सोशल मीडिया के फेवरेट हो चुके हैं. इनमें से पहली हैं - जाह्नवी कपूर, जो श्रीदेवी और बोनी कपूर की बेटी हैं. 21 साल की जाह्नवी कुछ एक्सप्रेशंस से अपनी मां की याद दिलाती हैं और दिलचस्प बात है कि उन्हीं की तरह हिंदी बोलने में थोड़ी लड़खड़ा भी जाती हैं. बेहद सुंदर लगने के अलावा वे ठीक-ठाक के करीब का अभिनय करने वाली हैं, इस बात का अंदाजा ट्रेलर से लग जाता है.

यहां दूसरा सितारा ईशान खट्टर हैं, जो शाहिद कपूर के सौतेले भाई हैं. हालांकि ईशान पिछले दिनों ईरानी फिल्मकार माजिद मजीदी की फिल्म ‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ में नजर आए थे, लेकिन बॉलीवुड के मेनस्ट्रीम कमर्शियल सिनेमा में वे धड़क से ही शुरूआत कर रहे हैं. इससे पहले ‘बियॉन्ड...’ के लिए ढेर सारी तारीफें बटोरने वाले 22 साल के इस नए-नवेले अभिनेता के वजनदार अभिनय की झलकियां देखकर आपको खुशी होती है. ट्रेलर लॉन्च पर बोलते हुए ‘धड़क’ के निर्माता करण जौहर ने इशारों-इशारों में कहा कि एक बार फिर उन पर नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) फैलाने का आरोप लग सकता है. हालांकि कोई कुछ भी कहे, अगर वे आलिया भट्ट और उनके बाद ईशान खट्टर जैसे संभावनाशील अभिनेताओं को लॉन्च करते रहें तो दर्शकों को उनसे यह शिकायत नहीं होगी.

‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनिया’ और ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ के निर्देशक शशांक खेतान ने ‘धड़क’ का निर्देशन किया है. उनकी ये दोनों फिल्में बॉक्स-ऑफिस पर सफल जरूर रहीं, लेकिन अच्छा सिनेमा कहा जाए ऐसा कुछ इनमें नहीं था. इसके उलट ‘सैराट’ एक बेहतरीन कॉन्सेप्ट पर बनी एक कल्ट फिल्म मानी जाती है और यही वजह है कि दोबारा लिखते और निर्देशित करते हुए खेतान इसके साथ कितना न्याय कर पाए होंगे, कह पाना मुश्किल है. उनकी फिल्म ‘धड़क’, ‘सैराट’ नाम के इस कल्ट का कत्ल न करे, बस यही दर्शकों को खुश करने के लिए काफी होगा. बाकी, फिल्म क्या करती है, इसका पता 20 जुलाई को रिलीज के साथ पता चलेगा.