कर्नाटक में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को अपना मंत्रिमंडल बनाए हुए एक सप्ताह भी नहीं हुआ कि उन्हें अपने मंत्रियों के विभागों में फेरबदल करना पड़ गया. उन्होंने सोमवार को अपने दो मंत्रियों के विभागों की अदला-बदली की है.

द टाइम्स आॅफ इंडिया के मुताबिक मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने जीटी देवेगौड़ा को पहले उच्च शिक्षा मंत्री बनाया था. लेकिन वे इससे खुश नहीं थे. लिहाज़ा उन्हें सहकारिता मंत्रालय सौंप दिया गया है. दूसरी तरफ सहकारिता विभाग संभाल रहे बंडेप्पा काशिमपुर को उच्च शिक्षा मंत्री बना दिया गया है. हालांकि वे भी पूरी तरह इससे खुश नहीं हैं. ऐसे में उन्हें आबकारी मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार भी सौंपे जाने की चर्चा है. सूत्रों के मुताबिक पहले आबकारी विभाग जीटी देवेगौड़ा को देने पर विचार किया गया लेकिन उन्होंने इससे भी मना कर दिया था.

चामुंडेश्वरी विधानसभा क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को हराने वाले जीटी देवेगौड़ा ने ऐसे मंत्रालय की मांग की थी जहां वे आम लोगों, ख़ास तौर पर किसानों के संपर्क में रह सकें. दूसरा उनकी शैक्षणिक योग्यता भी उच्च शिक्षा विभाग संभालने में आड़े आ रही थी. वे सिर्फ आठवीं कक्षा तक पढ़े हैं. इसीलिए उन्होंने यह मंत्रालय संभालने में खुद ही रुचि नहीं दिखाई. जबकि काशिमपुर पशु चिकित्सा में स्नातक हैं. हालांकि इतने से ही एचडी कुमारस्वामी की मुश्किल कम होती नहीं दिखती क्योंकि कुछ और मंत्री भी अपने विभागों से नाखुश बताए जा रहे हैं.