अमेरिका की ‘ओबामाकेयर’ की तरह केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने ‘मोदीकेयर’ योजना शुरू की. इसके बाद अब केंद्र की ‘मोदीकेयर’ की तरह ओडिशा सरकार ने ‘नवीनकेयर’ योजना शुरू की है. हर साल राज्य के लगभग 4.84 करोड़ लोगों काे मुफ़्त स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ‘यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज’ के तहत सरकारी अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों आदि में मरीजों से लिए जाने वाले सभी शुल्क ख़त्म (यूज़र चार्ज) ख़त्म कर दिए हैं. ख़ास बात ये है कि नवीन सरकार अपनी इन योजनाओं को ‘स्वास्थ्य बीमा’ के बजाय ‘स्वास्थ्य आश्वासन’ योजना की तरह प्रचारित कर रही है. जबकि नरेंद्र मोदी सरकार की ‘आयुष्मान भारत’ (इसे ही ‘मोदीकेयर’ भी कहा जा रहा है) एक तरह की स्वास्थ्य बीमा योजना है. इसके ज़रिए देश के लगभग 10 करोड़ परिवारों को हर साल पांच लाख का स्वास्थ्य सुरक्षा कवर दिया जा रहा है.

ओडिशा के मुख्यमंत्री ने ‘यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज’ के अलावा ‘बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना’ भी शुरू की है. इसके तहत हर लाभार्थी परिवार को सालाना पांच लाख रुपए तक नगदरहित स्वास्थ्य सहायता दी जाएगी. इस याेजना का फ़ायदा 70 लाख परिवार तक पहुंचाने की तैयारी है. इसके अलावा तीसरी योजना बीमार बच्चों और गर्भवती महिलाओं को मुफ़्त में अस्पताल तक लाने और उन्हें वापस घर छोड़ने की है. ज़रूरतमंदों को यह सुविधा सुनिश्चित कराने के लिए राज्य सरकार ने 500 रुपए प्रोत्साहन राशि (उन्हें जो मरीजों को अपने वाहन से अस्पताल लाएंगे और वापस ले जाएंगे) देने का भी ऐलान किया है. यह राशि सीधे लाभार्थियों के खातों में जमा कराई जाएगी.