प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को डिजिटल इंडिया अभियान के लाभार्थियों के साथ बतचीत की. उन्होंने कहा, ‘हमने डिजिटल इंडिया को लोगों तक, खास तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में, तकनीक की खुशियां पहुंचाने के मकसद से शुरू किया था.’ इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तकनीक का फायदा सभी लोगों तक पहुंचाने को सरकार का मकसद बताया. उन्होंने कहा, ‘हमने तय किया है कि तकनीक के लाभ केवल कुछ लोगों तक ही सीमित न रहें, बल्कि समाज के सभी तबकों तक तक पहुंचें.’

उधर, पूर्वोत्तर के तीन राज्यों - असम, मणिपुर और त्रिपुरा - में आई बाढ़ से 12 लोगों की मौत हो गई है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. बताया जाता है कि बाढ़ से करीब चार लाख लोग प्रभावित हुए हैं. कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. भूस्खलन भी हुआ है. सड़कों और रेलवे ट्रैकों पर पानी भर गया है जिससे कई जगहों पर ट्रैफिक प्रभावित हुआ है. कई ट्रेनें रद्द करनी पड़ी हैं.

आम चुनाव- 2019 : कांग्रेस द्वारा केवल आधी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने पर विचार

अगले साल भाजपा को केंद्र की सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस लोक सभा की करीब आधी सीटें अन्य विपक्षी पार्टियों के लिए छोड़ सकती है. दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक आजादी के बाद पहली बार कांग्रेस सबसे कम सीटों (करीब 270) पर अपने उम्मीदवार उतार सकती है. बताया जाता है कि पार्टी ने महागठबंधन का ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया है. हालांकि, इस पर स्थानीय रिपोर्टें आने के बाद एंटनी कमेटी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सलाह के बाद फैसला लेगी. इस ब्लू प्रिंट के मुताबिक पार्टी ने उन 44 सीटों को नहीं छोड़ने का फैसला किया है, जिन पर 2014 में उसने जीत दर्ज की थी. साथ ही, कांग्रेस उन 224 सीटों पर भी अपने उम्मीदवार उतारने की तैयारी में है, जिन पर वह दूसरे पायदान पर थी.

शुजात बुखारी की हत्या के पीछे पाकिस्तान की सुनियोजित साजिश

राइजिंग कश्मीर अखबार के संपादक शुजात बुखारी की हत्या के पीछे पाकिस्तान की सुनियोजित साजिश बताई जा रही है. अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें कश्मीर मसले पर पाकिस्तानी एजेंडे से इतर जाने की कीमत चुकानी पड़ी है. अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि शुजात बुखारी भारत और पाकिस्तान के बीच ट्रैक-2 वार्ता (राजनयिकों से इतर वार्ता) में शामिल हुए थे. इस दौरान उन्होंने कहा था कि कश्मीरी भारत के साथ रहकर ही अच्छे भविष्य की कल्पना कर रहे हैं. बीते गुरुवार को अज्ञात हमलावरों ने शुजात बुखारी की श्रीनगर स्थित उनके दफ्तर से बाहर निकलते वक्त हत्या कर दी थी.

गौरी लंकेश की हत्या परशुराम वाघमोरे ने की थी : एसआईटी सूत्र

कर्नाटक स्थित वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या परशुराम वाघमोरे ने की थी. द टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर की मानें तो यह बात विशेष जांच दल (एसआईटी) के सामने खुद परशुराम वाघमोरे ने स्वीकार की है. बीते हफ्ते उसे विजयपुरा जिले से हिरासत में लिया गया था. अखबार ने सूत्रों के हवाले से बताया कि परशुराम को इसकी जानकारी नहीं थी कि उसे किसे मारने को कहा गया है. उसने एसआईटी को बताया, ‘मुझे मई, 2017 में बताया गया था कि अपने धर्म की रक्षा के लिए मुझे किसी को मारना होगा. इसके लिए मैं राजी हो गया.’ आरोपित ने आगे बताया कि उसे इस काम को अंजाम देने के लिए सितंबर, 2017 में उसे बेंगलुरू लाया गया था. साथ ही, उसे एयरगन चलाने की ट्रेनिंग दी गई थी. पांच सितंबर, 2017 को गौरी लंकेश की हत्या बेंगलुरू स्थित उनके निजी आवास पर कर दी गई थी.

राजस्थान : कबाड़ी की दुकान से 1830 आधार कार्ड मिलने के मामले में निलंबित डाकिये को जिम्मेदार बताया गया

राजस्थान के जयपुर में कबाड़ी की दुकान से 1830 आधार कार्ड मिलने के मामले में निलंबित डाकिये को जिम्मेदार बताया गया है. जनसत्ता में प्रकाशित खबर के मुताबिक डाक विभाग के वरिष्ठ पोस्ट मास्टर रामावतार शर्मा ने बताया कि आरोपित डाकों का वितरण सही तरीके से नहीं कर रहा था. उसने जनवरी, 2017 से आधार कार्ड अपने पास रखे हुए थे. बताया जाता है कि आरोपित डाकिये को किसी अन्य मामले में बीती छह जून को निलंबित किया गया था. बीते गुरुवार को बिना वितरित किए हुए आधार कार्डों को एक कबाड़ी की दुकान में पाया गया था. इन्हें अब डाक विभाग ने अपने कब्जे में ले लिया है. साथ ही, इनके वितरण की व्यवस्था की जा रही है.